Home » अजब गजब » pakistani airlines forced passenger to stand up on flight to Madina
 

विमान में सीटें फुल होने पर यात्रियों ने गैलरी में खड़े होकर किया सफर

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 February 2017, 17:24 IST
Pakistan International Airlines

पाकिस्तान एयरलाइंस का कारनामा, विमान में जगह नहीं होने पर खड़े होकर यात्रियों ने किया सफर आपने बस या ट्रेन में खड़े होकर सफर करने के बारे में तो सुना होगा, लेकिन यदि ऐसी स्थिति विमान में आए तो क्या कहेंगे? जी हां, यह अजीब स्थिति बन गर्इ पाकिस्तान एयरलाइंस में जब सीटें भर जाने पर उसने सात यात्रियों को विमान की गैलरी में खड़े रखकर मदीना पहुंचा दिया.

हुआ यूं कि पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआइए) की सऊदी अरब जाने वाली फ्लाइट की सभी सीटें भरी थीं.
इसके बावजूद सात यात्रियों को गलियारे में खड़ा करके मदीना ले जाया गया. पीआइए प्रबंधन ने इस घटना के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है.

मीडिया में मामला आने पर जांच के आदेश दिए जाने की बात कही जा रही है. पीआइए प्रवक्ता दानयाल गिलानी ने बताया, मामले की जांच की जा रही है. समाचार पत्र डॉन के मुताबिक, पीआइए की फ्लाइट पीके-743 (बोइंग 777 विमान) कराची से सऊदी अरब के मदीना जा रही थी आैर विमान में कोई सीट खाली नहीं होने की वजह से एेसा किया गया. रिपोर्ट के अनुसार, 409 यात्रियों की क्षमता वाले विमान में 416 यात्री सवार थे.

यात्रियों को हाथ से लिखे गए बोर्डिंग पास दिए गए थे. ग्राउंड स्टाफ की ओर से कंप्यूटर से बने बोर्डिंग पास की सूची विमान के क्रू स्टाफ को दी गई थी. मगर उसमें अतिरिक्त यात्रियों का जिक्र नहीं था. 

यह मामला गंभीर सुरक्षा उल्लंघन का है क्योंकि इससे सभी यात्रियों की जान जा सकती थी. विमान में अतिरिक्त यात्रियों के साथ सफर करना बहुत खतरनाक हो सकता था. यही नहीं खबरों की माने तो विमान में आपातकालीन स्थिति में पीआइए की इस फ्लाइट में पर्याप्त ऑक्सीजन और सुरक्षा उपकरण भी नहीं थे.
पायलट को दी थी जानकारी सूत्रों के मुताबिक, वरिष्ठ एयर होस्टेस हिना तुरब ने विमान के कैप्टन अनवर आदिल को अतिरिक्त यात्रियों की जानकारी दी थी.

इस पर अनवर ने कहा कि उन्हें 'एडजस्ट' करो, क्योंकि विमान टैक्सी वे पर है. डॉन से बातचीत में अनवर ने कहा, उड़ान भरने से पहले उन्हें इसके बारे में नहीं बताया गया. उड़ान के बाद तात्कालिक लैंडिंग संभव नहीं थी.

First published: 28 February 2017, 17:13 IST
 
अगली कहानी