Home » अजब गजब » People worshipping this 6 years old boy in Jalandhar names Pranshu who resembles like Hindu God lord Ganesha
 

जानिए क्यों इस छह साल के बच्चे की लोग कर रहे हैं पूजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 November 2016, 17:26 IST

जालंधर के एक छह वर्षीय बच्चे की लोग भगवान के रूप में पूजा करते हैं. न केवल ग्रामीण बल्कि उसके स्कूल के शिक्षक भी उसे भगवान गणेश का अवतार मानते हैं और उसके सामने सिर झुकाते हैं.

पंजाब के जालंधर में मजदूरी करने वाले कमलेश रहते हैं. उनका छह साल का बेटा प्रांशु लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. लेकिन यह आकर्षण किसी और तरह का नहीं बल्कि भक्तिभाव वाला है. यानी गांव और आसपास के इलाकों के तमाम लोग अक्सर प्रांशु के पैर छूकर उससे आशीर्वाद लेते हैं.

दरअसल, एक जन्मजात बीमारी के चलते प्रांशु का सिर काफी बड़ा और आंखे छोटी रह गई. बताया जाता है कि इसकी वजह गर्भ में उसका उचित विकास न हो पाना था. प्रांशु अपने पैरों पर चल भी नहीं पाता है. 

लेकिन पैदा होने के बाद जब लोगों ने उसका चेहरा देखा तो उसकी तुलना हिंदुओं के देवता भगवान गणेश से करने लगे. देखते ही देखते यह बात तेजी से फैल गई और लोग प्रांशु की पूजा करने लगे. प्रांशु के परिवार वाले उसे भगवान की वेशभूषा में तैयार भी कर देते हैं.

अब आलम यह है कि लोग नियमित रूप से प्रांशु की पूजा करने के बाद उसके पैर छूते हैं और उसका आशीर्वाद लेते हैं. कहा जाता है कि वाकई प्रांशु गणेश जी का अवतार है क्योंकि उसने जिसको भी आशीर्वाद दिया उसकी किस्मत चमक गई.

प्रांशु को भगवान मानने वालों में केवल ग्रामीण ही नहीं बल्कि उसके माता-पिता, स्कूल के शिक्षक और उसके दोस्त भी शामिल हैं.

एक अंग्रेजी वेबसाइट से बातचीत में प्रांशु ने कहा, "मैं गणेश जी की तरह दिखता हूं और यहां तक की लोग मेरा असली नाम भी नहीं जानते. मेरे स्कूल में शिक्षक भी मेरी पूजा करते हैं. मेरे दोस्त भी मुझे नहीं चिढ़ाते हैं क्योंकि वे मानते हैं कि मैं वाकई गणेश भगवान हूं. जब लोग मुझे गणेशजी बुलाते हैं मुझे अच्छा लगता है. इससे मुझे खुशी होती है. मैं भी ऐसे ही बने रहना चाहता हूं. मैं अपने बड़े सिर और चेहरे के साथ खुश हूं."

वहीं, प्रांशु के पिता कमलेश का कहना है, "मैं भी अन्य लोगों की ही तरह प्रांशु की पूजा करता हूं. उसका शरीर भगवान गणेश की ही तरह है. वो सभी को आशीर्वाद देता है. जो भी उससे मिलता है उसकी मुरादें पूरी हो जाती हैं. वो रोज स्कूल जाता है जो कोई भी उसे देखता है, फूलों से स्वागत करता है. उसके पैदा होने के बाद से ही गणेश जी से उसकी शक्ल काफी मिलती थी. उसकी आंखें भी गणेश भगवान की ही तरह है. वो बड़े सिर के साथ पैदा हुआ था और अब उसका सिर और बड़ा होता जा रहा है."

First published: 9 November 2016, 17:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी