Home » अजब गजब » Premature Baby Life Saved By Sandwich Bag In England
 

सैंडविच बैग ने बचाई नवजात की जान, करिश्मा देखकर डॉक्टर भी रह गए हैरान

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 October 2018, 15:10 IST

जिंदगी और मौत भगवान के हाथ में होती है. इस तरह की बाते आपने कई बार सुनी होंगी. इंग्लैंड में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला. जब एक सैंडविच बैग की वजह से एक नवजात बच्चे की जान बच गई. ये बच्चा समय से पहले पैदा हुआ था. जिसके बचने की उम्मीद डॉक्टर्स को भी नहीं थी, लेकिन भगवान के करिश्मा ने इस बच्चे को जिंदगी बख्श दी.

ये भी पढ़ें- इस जंगल में है रहस्यमयी पेड़, छूते ही इंसानों जैसी करता है हरकत

दरअसल, इंग्लैंड के कॉर्नवाल में रहने वाली एक महिला को प्रीमेच्योर डिलिवरी हुई थी. महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया था. छह महीने तक गर्भ में रहने के बाद बच्ची की ग्रोथ रुक गई थी, जिसके बाद डॉक्टर्स को ऑपरेशन करना पड़ा. ऐसे जन्म लेने वाले बच्चे घंटे भर से ज्यादा नहीं जी पाते हैं, लेकिन इस बच्ची के साथ ऐसा चमत्कार हुआ कि कोई भी यकीन नहीं कर पा रहा.

ये भी पढ़ें- होमवर्क के बारे में पूछने पर छात्र ने टीचर पर तान दी पिस्तौल और फिर…

कॉर्नवाल में रहने वाली फ्लॉरिस्ट शेरोन ग्रांट अक्टूबर 2015 में पहली बार मां बनने वाली थी. उस वक्त उनकी प्रेग्नेंसी को 28 हफ्ते यानि करीब 6 महीने ही हुए थे. उसी दौरान शेरोन को कई तरह की परेशानियां होने लगी.

ये भी पढ़ें- ऑपरेशन के दौरान मरीज के पेट से निकली ऐसी चीज, देखकर डॉक्टर भी रह गए दंग

प्रीमेच्योर डिलिवरी की नौबत आने पर डॉक्टर ने शेरोन का ऑपरेशन कर दिया. जन्म के बाद बच्ची का वजन सिर्फ 490 ग्राम था और वह अपनी मम्मी की हथेली से भी छोटी थी. डॉक्टर्स को लग रहा था कि बच्ची कुछ ही घंटे में दम तोड़ देगी.

ये भी पढ़ें- पांच महीने के बच्चे की आंख से निकली ऐसी चीज, वीडियो देखकर आप भी रह जाएंगे दंग

बच्ची को ICU में रखा गया. इस दौरान उसके शरीर का तापमान बेहद कम था. उसकी जान बचाने और उसे गर्मी देने के लिए डॉक्टर्स ने बेहद शानदार तरीका अपनाया. डॉक्टरों ने बच्ची को बचाने के लिए सैंडविच बैग यानि पॉलीथिन में रख दिया.

ये भी पढ़ें- दिन-रात फोन पर लगी रहती थी ये महिला, हाथों का हुआ ऐसा हाल

इससे उसकी बॉडी को मां के गर्भ जैसा माहौल ही मिल गया. कुछ दिन तक पॉलीथिन बैग में रखने से नवजात बच्ची की सेहत में तेजी से सुधार होने लगा और जल्द ही उसका इन्फेकशन और अन्य दिक्कतें भी दूर हो गईं. कुछ महीने बाद उसे घर भेज दिया गया. पैदा होने के मात्र पांच महीने बाद वह एक आम बच्चे की तरह स्वस्थ गई.

ये भी पढ़ें- अकेलापन दूर करने के लिए पुलिस को कॉल कर ऐसी बातें करता था ये शख्स, पांच साल की हो गई सजा

First published: 24 October 2018, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी