Home » अजब गजब » Richest Man in the world Mansa Musa or Mus I of Mali Empire
 

ये था दुनिया का सबसे अमीर इंसान, जो लोगों को लुटाता था सोना

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 March 2020, 14:10 IST

Richest Man in the world: आप जानते हैं कि वर्तमान में दुनिया के सबसे अमीर इंसान (World's Richest Man) अमेजन (Amazon) के सीईओ (CEO) और फाउंडर जेफ बेजोस (Jeff Bezos) हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि आज से सात सौ साल (Before 700 year ago) पहले भी कोई शख्स दुनिया में सबसे अमीर (Richest Man) था. आज भले ही दुनिया का सबसे अमीर इंसान तमाम चैरिटी में दान (Donation) देता हो, लेकिन 700 साल पहले का सबसे अमीर शख्स दान न देकर लोगों में सोना लुटाता था.

बताया जाता है कि टिम्बकटू (Timbuktu) के राजा मनसा मूसा प्रथम (King Mansa Musa) दुनिया के सबसे अमीर शख्स थे. बता दें कि टिम्बकटू अफ्रीकी देश माली (Mali) का एक शहर है. बताया जाता है कि मूसा ने माली पर उस वक्त हुकूमत की थी जब वहां सोने के भंडार हुआ करते थे. बताया जाता है कि मूसा के राज में हर साल करीब एक टन यानी 1000 किलो सोने का उत्पादन होता था.


बता दें कि मनसा मूसा का असली नाम मूसा कीटा प्रथम था, लेकिन राजा बनने के बाद वो मनसा कहलाए जाने लगे. मनसा का मतलब बादशाह होता है. बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, मूसा की सल्तनत इतनी बड़ी थी कि इसके अंतिम छोर के बारे में अंदाजा नहीं लगाया जा सकता था. बताया जाता है कि वर्तमान के मॉरीटानिया, सेनेगल, गांबिया, गिनिया, बुर्किना फासो, माली, नाइजर, चाड और नाइजीरिया भी मूसा के राज्य का हिस्सा होते थे.

बता दें कि 1312 ईस्वी में मनसा मूसा माली साम्राज्य के शासक बने थे. उन्होंने करीब 25 साल तक शासन किया. अपने शासनकाल में मूसा ने कई मस्जिदों का निर्माण कराया. जिनमें से कई मस्जिद आज भी मौजूद हैं. टिम्बकटू का जिंगारेबेर मस्जिद मनसा मूसा के दौर में बनाई गई थी.

मनसा मूसा से जुड़ी एक कहानी आज भी दुनियाभर में मशहूर है. बताया जाता है कि 1324 ईस्वी में जब मनसा मूसा मक्का की यात्रा पर गए थे. इस दौरान उनके काफिले में करीब 60 हजार लोग शामिल थे, जिनमें से 12 हजार तो केवल उसके निजी अनुयायी ही थे. वहीं मनसा मूसा जिस घोड़े पर सवार थे, उससे आगे 500 लोगों का एक दस्ता चल रहा था.

उन सबके हाथ में सोने की एक-एक छड़ी भी थी. बताया जाता है कि मनसा मूसा के काफिले में 80 ऊंटों का एक जत्था भी शामिल था और हर ऊंट पर 136 किलो सोना लदा गया था. कहा जाता है कि मनसा मूसा इतने उदार थे कि जब वो मिस्र की राजधानी काहिरा से गुजरे तो वहां उन्होंने गरीबों को इतना दान दे दिया कि उस इलाके में बड़े पैमाने पर महंगाई बढ़ गई थी.

बता दें कि मनसा मूसा के दौर में यूरोप के पास कुछ खास खनिज पदार्थ या सोने के भंडार नहीं थे. कहा जाता है कि मनसा मूसा के गरीबों में सोना बांटने की बात जब यूरोप में पहुंची तो यूरोप के लोग माली साम्राज्य में घूमने आने लगे. जिससे वो ये बात जान सकें कि मूसा के पास आखिर कितनी दौलत है. यूरोप के लोग जब माली आए तो उन्हें इस बात का यकीन आ गया कि मूसा हकीकत में बहुत अमीर थे.

गजब! ऐसा अनोखा जानवर जो पूरी जिंदगी रहता है प्रेग्नेंट, हर 30 दिन में देता है बच्चे

Video: शिकार करने के लिए कठफोड़वा के घोसले में घुसा था सांप, बच्चों को बचाने के लिए भिड़ गई ये चिड़िया

इस शख्स ने पाल रखा है अद्भुत सांप, जिसके सिर पर है ये खास निशान, देखें फोटो

First published: 7 March 2020, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी