Home » अजब गजब » solothurn the swiss town special affection with the number 11
 

यहां की घड़ी में कभी नहीं बजते 12, जानें क्या है इसके पीछे का माजरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 April 2019, 15:11 IST

टेबल क्लॉक हो या फिर हाथ की घड़ियां, जैसी भी घड़ियां हो उसमें 12 जरूर बजता है. लेकिन आज हम आपको एक ऐसी घड़ी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसमें 12 कभी नहीं बजते हैं. ये घड़ी कहीं और नहीं है, बल्कि दुनिया स्विटजरलैंड का एक शहर है. ये शहर काफी सुंदर शहर है. इस शहर का नाम है सोलोथर्न. इस शहर की सबसे खास बात ये है कि इस शहर के लोगों को 11 नंबर से काफी प्यार है. यहां की ज्यादातर चीजों का डिजाइन इस नंबर के आस-पास ही घूमता है.

यहां चर्चों और चैपलों की संख्या भी 11-11 है. ऐतिहासिक झरने, संग्रहालय और यहां तक की टावर भी 11 नंबर के हैं. यहां तक की यहां के सेंट उर्सूस के मुख्य चर्च में भी आपको 11 नंबर के प्रति लोगों का प्यार नजर आ जाएगा. ये चर्च 11 साल में बनकर तैयार हुआ था. इधर की सीढ़ियों का सेट तीन है, जिसमें हर सेट में 11 पंक्तियां, 11 दरवाजे, 11 घंटियां और 11 वेदियां हैं.

इस नंबर के प्रति लोगों में इतना लगाव है कि यहां हर चीज में 11 नजर आ ही जाएगा. लोगों के जीवन में भी 11 नंबर का खास महत्व है. यहां के लोग हर 11वें जन्मदिन पर खास तरह से सेलेब्रेट करते हैं. जन्मदिन के मौके पर दिए जाने वाला प्रॉडक्ट भी 11 नंबर से जुड़ा है. जैसे ऑफी बीयर यानी बीयर 11, 11-आई चॉकोलेड .

 

इसी वजह से यहां एक ऐसी घड़ी है, जहां कभी 11 नहीं बजता है. इस शहर के टाउन स्क्वेयर पर एक घड़ी लगी है. उस घड़ी में घंटे की सिर्फ 11 सुइयां हैं. 12 उसमें से गायब है.

11 नंबर से क्यों है इतना प्यार ?

11 नंबर के प्रति लोगों का लगाव के बारे में यहां कुछ पौराणिक मान्यता है. एक मान्यता के अनुसार, एक समय में सोलोर्थन के लोग काफी मेहनत करते थे. काफी काम करने के बावजूद उनकी जिंदगी में खुशियां नहीं थी. इस बीच यहां की पहाड़ियों से एल्फ आने लगे और यहां के लोगों का हौसला बढ़ाने लगे. एल्फ के आने से उनके जीवन में खुशहाली आने लगी. जर्मनी भाषा में एल्फ का मतलब 11 होता है. इसलिए यहां के लोगों ने एल्फ को 11 नंबर से जोड़ दिया. उनके एहसानों को याद करने के लिए लोगों ने 11 नंबर को महत्व देना शुरू कर दिया.

First published: 10 April 2019, 15:11 IST
 
अगली कहानी