Home » अजब गजब » The Hijacker Who Vanished: Hijacker and criminal mastermind D.B. Cooper parachutes out of plane
 

जब आसमान से ही प्लेन को हाईजैक करने वाला अपराधी करोड़ों रुपयों के साथ हो गया था गायब, आज तक नहीं चल सका पता

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 November 2020, 15:16 IST
(Representational Image)

आपने प्लेन हाईजैक के कई किस्से और कहानियां सुनी होंगी. आपने आज तक यह जरूर सुना होगा कि प्लेन में सवार यात्रियों की सुरक्षा के लिए कैसे हाईजैकर की बातें कैसे मानी गई या फिर कैसे हाईजैकर के चुंगल से लोगों को छुड़ाया गया. लेकिन क्या आपने आज तक ऐसा कभी सुना है कि कोई हाईजैकर आसमान से ही गायब हो गया हो वो भी करोड़ों रूपयों के साथ और उसका फिर कभी कोई पता ना चला हो. आप जरूर कहेंगे कि यह कैसे हो सकता है, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि ऐसा हुआ है और आज तक उस हाईजैकर के बारे में किसी को नहीं पता कि आखिर उसके साथ क्या हुआ था.

दरअसल, 24 नवंबर 1971 को अमेरिका के ओरेगन राज्य में स्थित पोर्टलैंड अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पर एक आदमी काले सूट बूट में आता है और वो अपना नाम डैन कूपर बताकर एक टिकट खरीदता है. यह टिकट उस नॉर्थवेस्ट ओरिएंट एयरलाइंस के बोइंग 727 विमान का था जो पोर्टलैंड और सिएटल के बीच उड़ान भरना था. डैन कूपर जिसे डी बी कूपर भी कहतें हैं वो प्लेन में पहुंचने के बाद अपनी सीट पर बैठता है. उसे फ्लाइट में सबसे पीछे की सीट मिली थी. हालांकि, इस दौरान उसके पास जो काले रंग का बैग था, उसे उसने अपने साथ ही रखा.


प्लाइट जैसे ही टेक ऑफ होती है, उसके कुछ देर बाद वो फ्लाइट अटेंडेंट के पास जाता है और उसे एक पर्जी देता है जिस पर लिखा था कि उसे पास बम है और उसे चार पैराशूट, $200,000 चाहिए. पर्जी में आगे लिखा था कि उसे कोई मजाक नहीं चाहिए. कूपर फ्लाइट अटेंडेंट को अपना बैग खोलकर दिखाता है जिसमें बम जैसी कोई चीज थी.

 

American Photo Archive/Alamy Photo

प्लेन के हाईजैक होने की सूचना फ्लाइट अटेंडेंट ने पाइलट को दी और आनन फानन में एटीसी को इसकी सूचना दी गई. प्लेन हाईजैक होने की जानकारी मिलते ही हड़कंप मच गया. इसके बाद इस विमान को पास के ही नदजीकी एयरपोर्ट पर उतारा गया. विमान सिएटल-टैकोमा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरा गया, जहां अमेरिकी सरकार ने उसे 2 लाख डॉलर रूपयों से भरा बैग थमाया. इसी दौरान कूपर ने एयरपोर्ट पर अधिकांश यात्रियों को छोड़ दिया.

इसके बाद कुछ यात्रियों के साथ कूपर ने कहने पर विमान ने कम ऊंचाई पर मैक्सिको की ओर उड़ान भरी. विमान काफी नीचे उड़ रहा था, और कूपर ने विमान में सवाल सभी लोगों को कॉकपिट में जाने का आदेश दिया और दरवाजा नहीं खोलने को कहा. हालांकि, थोड़ी देर बाद पायलट को विमान में हवा के दवाब में कमी महसूस हुई, जिसके बाद को-पायलट ने जाकर देखा को विमान का दवराजा खुला हुआ था. को-पायलट ने तुरंत जाकर विमान का दरवाजा बंद किया और विमान में सभी जगह कूपर को ढ़ूंढने लगा. लेकिन उसे कूपर कहीं नहीं मिला.

 

इसके बाद जब विमान एयरपोर्ट पहुंचा तो अधिकारियों ने उसे चारों तरफ से घेर लिया और विमान के हर हिस्से की सघन तलाशी ली गई. हालांकि, कूपर का कही पता नहीं चला. सब इस बात को लेकर हैरान थे कि आखिर बीच हवा से कूपर कहां गायब हो गया था.

आखिर विमान से कूपर कहां गायब हो गया था, इसको लेकर कुछ लोगों का मानना है कि जब प्लेन रात 8:13 बजे, जैसे ही विमान ने दक्षिण-पश्चिम वाशिंगटन में लुईस नदी के ऊपर उड़ान भरी, और विमान में हवा के दवाब में कमी महसूस की गई थी, उस दौरान विमान से कूपर ले छलांग लगा दी थी.

हालांकि, जहां कूपर ले छलांग लगाई थी, वहां मौसम काफी खराब था और कई अधिकारियों का मानना था कि कूपर तूफान में फंस गया था और वो सफल छलांग नहीं लगा पाया और मारा गया. इसके बाद अधिकारियों ने कूपर को ढूंढ निकालने के लिए भारी तलाशी अभियान चलाया लेकिन कूपर का कोई पता नहीं चला.

साल 1980 में वाशिंगटन राज्य में कोलंबिया नदी के किनारे एक लड़के को फिरौती की $5800 रकम मिली थी. लेकिन कूपर का कभी कोई पता नहीं चला था. हालांकि, हैरान करने वाली बात यह है कि विमान से कुछ दिनों बाद ही कुछ अमेरिकी अखबार को एक पत्र आया था, जिसे लिखने वाले ने दावा किया था कि वो ही डी बी कूपर है और उसे पकड़ना ना मुमकिन है. इसके बाद पांच और पत्र लिखे गए और सभी पत्र हाथ से लिखे गए थे, जिसमें अधिकारियों को ताना मारने की भाषा थी.

आखिर कैसे हुई थी हिटलर की मौत और क्या था कारण, सालों तक रहस्स्य बनी हुई थी तानाशाह की मृत्यु, दांत से हुआ था खुलासा

First published: 25 November 2020, 15:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी