Home » अजब गजब » There is no Mosque and not permission to built it in Slovakia
 

ये है दुनिया का इकलौता देश, जहां नहीं है कोई मस्जिद और ना बनाने की मिलती है इजाजत

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 September 2020, 9:25 IST

दुनिया में सबसे अधिक जनसख्या ईसाई धर्म के अनुयायियों की है. उसके बाद इस्लाम यानी मुस्लिम धर्म के मामने वालेे लोग है. दुनिया के हर देश मेें आपको मुस्लिम धर्म के मामने वाले मिल जाएंगे. इसके साथ ही आप मुस्लिम बस्तियों में मस्जिदें भी देख सकते हैं यहां मुस्लिम धर्म के लोग पांच वक्त की नमाज अदा करने जाते हैं. लेकिन आज हम आपको एक ऐसे देश के बारे में बताने जा रहे हैं जहां मुस्लिम तो रहते हैं लेकिन उनके नमाज अदा करने के लिए कोई मस्जिद नहीं है. यही नहीं इस देश में मस्जिद बनाने की इजाजत भी नहीं मिलती.

दरअसल, स्लोवाकिया दुनिया का एक मात्र ऐसा देश है जहां मुस्लिम होने के बावजूद मस्जिद नहीं है. बता दें कि यहां रहने वाले मुस्लिम या तो तुर्क हैं या फिर उगर. ये मुसलमान 17वीं सदी में यहां आकर बस गए थे. एक रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2010 तक यहां मुसलमानों की आबादी सिर्फ पांच हजार के आसपास थी. यूरोपियन यूनियन की सदस्यता वाला ये देश सबसे आखिर में इसका सदस्य बना है. इस देश में मस्जिद बनाने को लेकर विवाद भी होता रहा है. साल 2000 में स्लोवाकिया की राजधानी में इस्लामिक सेंटर बनाने को लेकर भी विवाद हुआ था.


इस महिला से जिसने की शादी उसको जीवनभर का रहेगा पछतावा, 11 साल में 8 लोगों को कर गई बर्बाद

तब ब्रातिसिओवा के मेयर ने स्लोवाक इस्लामिक वक्फ फाउंडेशन के सभी प्रस्तावों को खारिज कर दिया था. साल 2015 में यूरोप के सामने शरणार्थियों का प्रवास एक बड़ा मुद्दा बना हुआ था. उस समय स्लोवाकिया ने 200 ईसाइयों को शरण दी, लेकिन मुस्लिम शरणार्थियों केे आने पर रोक लगा दी. इस पर स्प्ष्टीकरण देते हुए स्लोवाकिया के विदेश मंत्रालय ने कहा कि उनके यहां मुस्लिमों के इबादत की कोई जगह नहीं है, जिसके कारण मुस्लिमों को शरण देना देश में कई समस्याएं पैदा कर सकता है, हालांकि, इस फैसले का यूरोपीय यूनियन ने भी आलोचना की.

मालिक की जान बचाने के लिए कुत्ते ने दांव पर लगा दी अपनी जान, वीडियो में देखें डॉगी की बहादुरी

सांप और नेवला के बीच हुई जिंदगी की जंग, वीडियो में देखें लड़ाई की खूनी नजारा

यही नहीं 30 नवंबर 2016 को स्लोवाकिया ने एक कानून पास कर इस्लाम को आधिकारिक धर्म का दर्जा देने पर रोक लगा दी. यह देश इस्लाम को एक धर्म के रूप में नहीं स्वीकार करता है. यही नहीं यूरोपीय यूनियन में स्लोवाकिया ही एकमात्र ऐसा अकेला देश है, जहां एक भी मस्जिद नहीं है. यही नहीं स्लोवाकिया में ध्वनि प्रदूषण से निपटने के लिए भी एक कड़ा कानून लागू है. इस देश में सुबह 10 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक आप किसी से खराब व्यवहार में बात नहीं कर सकते हैं और ना ही शोर मचा सकते हैं. ऐसे करने वालों से पुलिस सख्ती से निपटती है सात ही उनपर भारी भरकम जुर्माना लगाया जाता है.

सड़क किनारे सो रहे शख्स को लोगों ने समझ लिया मुर्दा, वीडियो में देखें फिर हुआ क्या?

First published: 10 September 2020, 9:25 IST
 
अगली कहानी