Home » अजब गजब » These are the most strange punishment in the world
 

यहां दी गईं दुनिया की सबसे अजीबो-गरीब सजाएं, जानकर हैरान रह जाएंगे आप

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 November 2019, 12:54 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

दुनिया के किसी भी देश में कोई भी अपराध करने पर सजा जरूर सुनाई जाती है. चाहे वह अपराध छोटा रहा हो या बड़ा. लेकिन कई देशों में कोर्ट ने अपराधी को ऐसी सजा सुनाई, जिसे सुनकर खुद अपराधी ही नहीं बल्कि लोग भी हैरान रह गए. आज हम आपको ऐसी ही कुछ अजीबो-गरीब सजाओं के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे.

सबसे पहले बात करते हैं अमेरिका के मिसौरी में रहने वाले डेविड बेरी को मिली सजा के बारे में. दरअसल, डेविस बेरी ने एक बार सैकड़ों हिरणों का शिकार कर दिया. उसके बाद साल 2018 में डेविस को इस जुर्म का दोषी पाते हुए अदालत ने उसे सजा सुनाई. अदालत ने उसे सजा सुनाते वक्त कहा कि डेविस एक साल तक जेल में रहकर महीने में कम से कम एक बार डिज्नी का बाम्बी कार्टून देखेगा.


इसके अलावा अमेरिका में दो युवकों को कोर्ट ने अनोखी सजा सुनाई थी. दरअसल, साल 2003 में अमेरिका के शिकागो में रहने वाले दो लड़कों ने क्रिसमस की शाम चर्च से ईसा मसीह की मूर्ति चुराई थी. उसके बाद उन्होंने मूर्ति को नुकसान भी पहुंचाया था. इस जुर्म का दोषी पाते हुए कोर्ट ने उन्हें 45 दिन के लिए जेल की सजा सुनाई गई थी. इसके अलावा उन्हें अपने गृहनगर में एक गधे के साथ मार्च करने का भी आदेश दिया गया था.

अमेरिका के ही ओकलाहोमा में रहने वाले 17 साल के टाइलर एलरेड को भी कोर्ट ने अनोखी सजा दी. जो शायद ही कभी किसी को मिली हो. दरअसल, टाइलर एलरेड ने शराब पीकर गाड़ी चलाई जिससे गाड़ी दुर्घटना का शिकार हो गई. जिसमें टाइलर के एक दोस्त की मौत हो गई थी. यह घटना साल 2011 की है. चूंकि टाइलर उस समय हाई स्कूल में पढ़ते था, इसलिए अदालत ने उन्हें हाई स्कूल और ग्रेजुएशन खत्म करने के अलावा साल भर के लिए ड्रग, शराब और निकोटिन टेस्ट करवाने के साथ ही 10 साल तक चर्च जाने की सजा सुनाई थी.

वहीं स्पेन के एंडालूसिया में रहने वाले 25 साल के एक युवक के माता-पिता ने उसे पॉकेट मनी देनी बंद कर दी थी, जिसके बाद वह इस मामले को अदालत में ले आया. हालांकि अदालत ने उल्टे उसी को सजा सुना दी कि अगले 30 दिन के अंदर उसे उसके माता-पिता का घर छोड़ना पड़ेगा और अपने पैरों पर खड़ा होना पड़ेगा. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, साल 2008 में एंड्रयू वेक्टर पर अपनी कार में तेज आवाज में संगीत सुनने पर 120 पाउंड लगाया था. वो अपना पसंदीदा संगीत 'रैप' सुन रहा था. हालांकि बाद में जज ने कहा कि वह जुर्माने की रकम घटाकर 30 पाउंड कर देंगे, बशर्ते कि वेक्टर को 20 घंटों तक बीथोवन, बाख और शोपेन का शास्त्रीय संगीत सुनना होगा.

अपनी मां के लिए दूल्हा ढूंढ रही है बेटी, सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीर

उप्र के मुख्यमंत्री का पालतू कुत्ता 'कालू' बना इंटरनेट सेलिब्रिटी

पालतू कुत्ते ने प्यार से चाटा मालिक का हाथ, तड़प-तड़प कर हो गई मालिक की मौत

First published: 26 November 2019, 12:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी