Home » अजब गजब » Three Gorges Dam China biggest concern 500 million people life under threat
 

चीन का वो डैम जिसके कारण धरती के घूमने की रफ्तार हो जाती है कम, पहुंचा टूटने की कगार पर, मच सकती है तबाही

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 July 2020, 0:01 IST

चीन के 24 राज्यों में इन दिनों भारी बारिश हो रही है और इस बारिश के कारण चीन के अधिकतर राज्यों में बाढ़ आई हुई है. ऐसे में वहां हालात काफी खराब हैं, लेकिन दूसरी तरफ चीन है जो लगातार इन खबरों को दबा रहा है. हाल ही में आई एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि चीन बीते 30 सालों की सबसे खतरनाक बाढ़ का सामना कर रहा है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यंगशुओ काउंटी में स्थित, गुआंग-शी क्षेत्र का बांध जिसका निर्माण साल 1965 में हुआ था वो पानी के दवाब को सह नहीं पाया और टूट गया. यह डैम 195 हजार क्यूबिक मीटर से अधिक पानी को रोक सकता था और इतना पानी 78 ओलंपिक आकार के स्विमिंग पूल को भरने के काफी है.


इस डैम के बाद टूटने के बाद आस पास के इलाकों में तबाही मच गई. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, बांध 7 जून को दोपहर के करीब ढह गया था और इसके बाद शाज़ीक्सी गांव में सड़कों, बागों और खेतों में पानी भर गया. हालांकि, स्थानिय मीडिया ने इस खबर को बिल्कुल भी प्राथमिकता नहीं ही है जिसके कारण माना जा रहा है कि यहां भारी तबाही मची है.

चीन का वो सीरियल किलर जिसे लोगों को मारने में आता था मजा, महिलाओं का रेप कर उतार देता था मौत के घाट

 

पाकिस्तान के इतिहास की सबसे बड़ी घटना जिसने रख दिया था पूरे विश्व को हिलाकर

इतना ही नहीं बीते दिनों ही चीन ने अनहुई प्रांत में बाढ़ के पानी का दबाव कम करने के लिए एक बांध को धमाके से उड़ा दिया था. सरकारी मीडिया सीसीटीवी की रिपोर्ट्स के अनुसार, बीते रविवार को नदी के बेसिन में बाढ़ के दबाव को कम करने के लिए यांग्त्ज़ी नदी की सहायक चूही नदी पर बने बांध को विस्फोटकों से उड़ा दिया गया.

दरअसल, इस साल चीन में आई तबाही उसी की लाई हुई है. साल 1950 और 1960 के दशक के दौरान चीन ने सूखे की समस्या से निपटने के लिए बेतरतीब तरीके से डैम का निर्माण किया गया था और इस दौरान इनके निर्माण में घटिया क्वालिटी की सामग्री का इस्तेमाल हुआ. साल 2006 की एक रिपोर्ट के अनुसार, चीन में 1954 से 2005 तक करीब 3,486 डैम टूट गए थे. माना जा रहा है कि इस साल भारी बारिश के कारण कई डैम टूट सकते हैं और इसमें चीन का सबसे बड़ा डैम भी शमिल है.

थ्री गोर्ज डैम, चीन का सबसे बड़ा डैम है. यांग्त्ज़ी नदी पर बना यह डैम अगर टूटता है तो अनुमानित तौर पर करीब 5 करोड़ से अधिक लोग इससे प्रभावित हो सकते हैं और हजारों लोगों की जान जा सकती है. बीते दो महीनो से हो रही भारी बारिश के कारण इस डैम का जलस्तर काफी बढ़ गया है.

दुनिया की सबसे खतरनाक और खूबसूरत महिला जासूस, जिसके कारण मारे गए थे हजारों लोग

 

इस देश में AK-47 के बदले मिले रही एक जोड़ी गाय, जानिए क्या है पूरा माजरा

चीनी जल संसाधन मंत्रालय की यांग्त्ज़ी नदी जल विज्ञान समिति और चीन थ्री गोर्ज ग्रुप ने बताया कि बांध को ओवरफ्लो होने से बचाने के लिए, डैम के गेट खोल दिए गए थे. इस डैम की ऊंचाई 185 मीटर है, जबकि डैम में बीते मंगलवार को पानी का जलस्तर 163.5 मीटर तक पहुंच गया था.

कुछ अपुष्ट मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इसी दौरान ही थ्री गोर्ज के एक हिस्से को काफी नुकसान पहुंचा है. हालांकि, सरकार ने नुकसान की बात मानी है लेकिन उसने सिर्फ बाहरी नुकसान की बात कही है.

थ्री गोर्ज डैम के निर्माण में इतना लोहा लगा है कि उससे 60 एफिल टावर बन जाएं. वहीं इस डैम के लिए एक बात और कही जाती है कि जब इसमें पानी अपने चरम पर पहुंच जाता है तो इसके कारण पुथ्वी के घूमने की रफ्तार थोड़ी कम हो जाती है.

हालांकि, अभी तक यह साबित नहीं हो पाया है. लेकिन कहा जाता है कि जब बांध अपनी अधिकतम सीमा पर होता है, तो जलाशय में 42 बिलियन टन पानी होता है. द्रव्यमान में इस बदलाव का असर पृथ्वी को प्रभावित करता है, और एक दिन की लंबाई 0.06 माइक्रोसेकंड तक बढ़ जाती है.

वो सीरियल किलर जो बच्चों की हत्या करने के बाद खा जाता था उनका दिल, मौत के 60 साल बाद हुआ अंतिम संस्कार

First published: 23 July 2020, 23:32 IST
 
अगली कहानी