Home » अजब गजब » Unexplained Death In Edinburgh the capital city of Scotland Know the terrific talks of the city
 

इस शहर में हजारों लोगों की हो गई थी रहस्यमयी मौत, आज भी सुनकर लोगों की कांप जाती है रूह

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 February 2019, 15:11 IST

हमारे देश में ही नहीं बल्कि दुनियाभर के देशों में लोग भूत-प्रेतों में विश्वास रखते हैं. आज हम एक ऐसे शहर की कहानी बताने जा रहे हैं जो कभी खूनी शहर के नाम से जाना जाने लगा था. क्योंकि इस शहर में रहस्यमयी तरीके से सैकड़ों लोगों की जान चली गई थी. इस शहर का नाम है एडिनबर्ग. बता दें कि एडिनबर्ग स्कॉटलैंड की राजधानी है.

ऐसा माना जाता है कि इस शहर का इतिहास खून से लिखा गया है. क्योंकि एडिनबर्ग में कई भीषण युद्ध हुए. यहां महामारी से सैकड़ों लोगों की जान चली गई. इस शहर के लोग अंधविश्वास में इस कदर डूबे हुए थे कि उन्हें हर बात में कुछ रहस्य नजर आता था. एडिनबर्ग के पुराने शहरों में लोग भूतों के किस्से सुनाया करते थे. ओल्ड रिकी या ओल्ड स्मोकी नाम से मशहूर यह किस्से लेखकों द्वारा उनकी किताबों में अक्सर इस्तामेल किए जाते रहे हैं.


बता दें कि आज भी एडिनबर्ग की अंधेरी, संकरी गलियां और तंग खड़ी सीढ़ियों का वर्णन अपनी किताबों में करके लेखक लोगों को डराते हैं. कई लेखकों का कहना है कि इस शहर की हवा में ही कुछ ऐसा है. जो उनको अलग शक्ति का एहसास कराता है. यही नहीं ऐसा माना जाता है कि इस शहर की हवा लेखकों को लिखने के लिए उत्साहित करती है.

ऐसा माना जाता है कि एडिनबर्ग में आज भी पूर्व लॉर्ड एडवोकेट की आत्मा भटकती रहती है. यहां उनका मकबरा बनाया गया है. लोगों का कहना है कि एक बार एक बेघर शख्स उनके मकबरे में दाखिल हो गया. उसका ऐसा करने की वजह से लॉर्ड एडवोकेट की आत्मा नाराज़ हो गई और उस शख्स को एडवोकेट की आत्मा ने पीट-पीटकर अधमरा कर दिया. इस घटना के बाद कई लोगों को वहां किसी आत्मा के होने का एहसास हुआ.

इसी तरह के और भी कई किस्से इस शहर के बारे में बताए जाते हैं, ऐसे डरावने किस्सों ने ही कई लेखकों को कहानियां लिखने की प्रेरणा दी है. लेकिन आज इस शहर में बहुत बदलवाए आए हैे. यहां पूरे साल हर दिन त्योहारों की तरह रहता है. लोग अपनी जिंदगी को बिना किसी परेशानी के जीते हैं.

इस द्वीप पर स्थित है तीन हजार साल पुराना लौंग का पेड़, देखने के लिए रोजाना आते हैं हजारों लोग

First published: 23 February 2019, 15:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी