Home » अजब गजब » Whale hunt turns sea red with blood as 800 slaughtered in Faroe Islands in Denmark
 

डेनमार्क में काट दी गईं सैकड़ों व्हेल मछली, खून से लाल हो गया समुद्र, जानिए क्या है वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 June 2019, 13:26 IST

दरअसल, डेनमार्क के फैरो आइलैंड पर एक परंपरा निभाई जाती है. ये परंपरा ग्रीनडैडरैप नाम के त्योहार के दौरान मनाई जाती है. इस दौरान हर साल करीब 800 व्हेल और डॉल्फिन मछलियों को काट दिया जाता है. सबसे हैरानी करनेे की तो बात ये है कि इस खूनी परंपरा का कोई विरोध नहीं करता. ये परंपरा यहा 435 साल से चली आ रही है.

फैरो आइलैंड पर रहने वाले लोगों का कहना है कि इस आइलैंड पर ये परंपरा साल 1584 से निभाई जा रही है. डेनमार्क में व्हेल का शिकार करना गैरकानूनी है, लेकिन इस फैरो आइलैंड पर इस तरह का कोई भी नियम लागू नहीं होता है. इसीलिए लोग यहां परंपरा के नाम पर व्हेल का शिकार करते हैं.

फैरो आइलैंड के लोगों का मुख्य आहार व्हेल का मीट है, यहां के लोग व्हेल की मीट को सबसे अधिक पसंद करते हैं. जब इस आइलैंड पर त्योहार का समय आता है तो सैकड़ों मछुआरे समुद्र में व्हेल मछलियों को पकड़ने के लिए उतरते हैं. उसके बाद वो व्हेल को पकड़कर किनारे पर ले आते हैं. उसके बाद धारदार हथियारों से उन्हें काट दिया जाता है.

व्हेल मछलियों के शिकार की तमाम तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हो रही है. जिसमें लोग व्हेल के इस तरह शिकार करने का खूब विरोध कर रहे हैं. इसके बाद डेनमार्क के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता को सफाई देनी पड़ी. उन्होंने कहा कि व्हेल मछलियों का शिकार करना फैरो आइलैंड के लोगों के जीवन का एक प्रमुख हिस्सा, जिसे अंतरराष्ट्रीय स्तर मान्यता मिली हुई है.

चीन में एलियन दिखाई दिए जाने का दावा, सोशल मीडिया में शेयर हो रहीं UFO की तस्वीरें और वीडियो

First published: 4 June 2019, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी