Home » अजब गजब » Whole Country Mourns On A Dog Death Know The Reason Behind that
 

इटली में कुत्ते की मौत पर पूरे देश में शोक की लहर, इस वजह से सबका था 'हीरो डॉगी'

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 August 2018, 13:57 IST
(Facebook)

किसी अपने की मौत पर हर इंसान को दुख होता है और वो कई दिनों तक उन्हें याद कर रोते रहते हैं. लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि किसी एक कुत्ते की मौत पर कितने लोगों को दुख हो सकता है, शायद उसके मालिक और पूरे परिवार को. लेकिन ऐसा नहीं है क्यों कि इटली में एक कुत्ते की मौत पर पूरा देश शोक में डूब गया. उसके बाद लोगों ने इस कुत्ते से जुड़ी यादें सोशल मीडिया पर शेयर करना शुरु कर दीं.

जब कुत्ते की मौत का उसके मालिक ने ऐलान किया तो पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गई. कुत्ते के मालिक ने फेसबुक पर लिखा कि काओस (जर्मन शेफर्ड कुत्ता) की मौत हो गई है. तो लाखों लोगों ने उसकी मौत पर दुख व्यक्त किया. इस फेसबुक पोस्ट को करीब 66 हजार लोगों ने शेयर कर कुत्ते को श्रद्धांजलि दी. कुत्ते के मालिक फाबियानो इटॉर का कहना है कि उनके कुत्ते की मौत जहर दिए जाने की वजह से हुई है.

मालिक ने लिखा भावुक संदेश

कुत्ते के मालिक इटॉर ने कुत्ते की मौत पर भावुक होकर लिखा है कि, "वहां भी अपना काम जारी रखना, जो लोग गुम हो गए हैं उन्हें ढूंढते रहना और जिंदगियां बचाते रहना." बता दें कि, काओस ने अगस्त 2016 में इटली में आए भीषण भूकंप के दौरान कई लोगों की जान बचाई थी. इस प्राकृतिक आपदा में बड़ी संख्या में लोग मारे गए थे. कई मकान जमींदोज हो गए, जिसके अंदर दबे लोगों को काओस ने खोज निकाला था.

इसके बाद इटली के लोगों ने उस कुत्ते को 'हीरो डॉग' कहा था. कुत्ते की मौत के एक दिन पहले यानी शनिवार को ही इटॉर ने फेसबुक पर कुत्ते के गुम होने की बात बताई थी. उन्होंने लोगों से अपील की थी कि अगर काओस उन्हें कहीं मिले तो वे उन्हें बताएं. उसके कुछ ही घंटे बाद इटॉर ने काओस की मौत की खबर फेसबुक पर पोस्ट कर दी. उन्होंने फेसबुक पर लिखा, "तुमने दिन-रात एक कर दिया था. तुम एक वफादार मित्र थे. मेरे मित्र दौड़ो, रुकना मत."

काओस के कारनामों से हैरान रह जाते थे लोग

बता दें कि काओस इटॉर के साथ मध्य इटली में रहता था. इटॉर ने कुत्ते की कब्र पर फूल की तस्वीर भी शेयर की है. ट्विटर पर भी लोग उस 'हीरो डॉग' को याद कर रहे हैं. हजारों लोगों ने उसकी याद में ट्वीट किया है और कई हजार लोगों ने उस भूंकप की तबाही और काओस के कारमाने को याद किया है.

ये भी पढ़ें- रेगिस्तान के बीचों बीच इस अद्धभुत नजारे को देखकर आपका दिल भी हो जाएगा बाग-बाग

First published: 1 August 2018, 13:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी