Home » अजब गजब » Why are bells rung before going inside temples? You will be surprised to know the reason
 

मंदिरों के अंदर जाने से पहले क्यों बजाई जाती है घंटी? वजह जानकर हैरान रह जाएंगे आप

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 August 2021, 12:57 IST
bell in temple (catch news)

Ajab Gajab News: आपने किसी भी मंदिर में घुसने से पहले घंटी तो जरूर देखी होगी. आपने देखा होगा कि उस घंटी को बचाने के बाद ही लोग मंदिर में प्रवेश करते हैं. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि मंदिर में आखिर घंटी क्यों लगाई जाती है और इसे बजाने के बाद ही लोग मंदिर के अंदर क्यों जाते हैं? 

मंदिर में घंटी लगाने की वजह बेहद खास है. जब भी कोई भक्त मंदिर में आता है, तब पूजा-पाठ के दौरान भी घंटियां बजाई जाती हैं. मान्यता है कि घंटी बजाने से मंदिर में स्थापित देवी-देवताओं की मूर्तियों में चेतना जागृत हो जाती है. घंटी बजाने के बाद पूजा करने से भक्त द्वारा की गई पूजा पहले से अधिक फलदायक होती है.

पुराणों में भी कहा गया है कि मंदिर में घंटी बजाने से इंसान के कई जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं. जब सृष्टि का प्रारंभ हुआतब जो नाद यानि आवाज गूंजी थी. वैसी ही आवाज मंदिर की घंटी बजाने पर भी आती हैइस कारण मंदिर में प्रवेश करने से पहले घंटी बजाई जाती हैइसके अलावा मंदिर के बाहर लगी घंटी काल का प्रतीक मानी जाती है.

संत-महात्माओं के मुताबिक, माना जाता है कि जब धरती पर प्रलय आएगा. तब घंटी बजाने जैसा ही नाद सुनाई देगामंदिर में घंटी बजाने के पीछे कुछ वैज्ञानिक कारण भी हैंवैज्ञानिकों के अनुसार, जब मंदिर में घंटी बजाई जाती है तो वातावरण में कंपन पैदा हो जाता हैजो वायुमंडल के कारण काफी दूर तक जाता है


इस कंपन की सीमा में आने वाले सभी जीवाणुविषाणु और सूक्ष्म जीव नष्ट हो जाते हैंजिससे मंदिर और उसके आसपास का वातावरण शुद्ध हो जाता है. जहां पर घंटी बजने की आवाज रोजाना आती हैवहां का वातावरण हमेशा शुद्ध और पवित्र रहता है. घंटी बजाने से नकारात्मक शक्तियां खत्म हो जाती हैं और इंसान की जिंदगी में सुख-समृद्धि के द्वार खुलते हैं.

OMG: साधारण कटोरा समझकर उसमें टेनिस बॉल रखता था दंपति, 34.5 करोड़ रुपये मिलने के बाद उड़ गए होश

अजब: दुनिया की सबसे डरावनी बिल्डिंग, 33 साल बाद भी इसका निर्माण कार्य नहीं हो सका पूरा

First published: 12 August 2021, 12:57 IST
 
अगली कहानी