Home » अजब गजब » Women Of This Village Not Wear Clothes For Five Days In This State
 

इनदिनों में इस गांव की महिलाएं नहीं पहनतीं कपड़े, वजह जानकर दंग रह जाएंगे आप

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 October 2018, 13:51 IST

हमारे देश में तमाम परंपराएं निभाई जाती है. ऐसे में कुछ परंपराएं ऐसी भी हैं जिन्हें आपने आजतक नहीं सुना होगा. इन रीति-रिवाज और परंपराओं को जानकर यकीनन आपको हैरान कर देगी. ऐसी ही कुछ परंपराएं हिमाचल प्रदेश के कुछ इलाकों में निभाई जाती हैं.

दरअसल, देवभूमि हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले के एक गांव में अनोखी परंपरा आज भी चल रही है. फैशन की चकाचौंध से कुल्लू भी प्रभावित हुआ हो लेकिन देव नियम अभी भी कायम हैं. मणिकर्ण घाटी का एक गांव पीणी है, जहां पति-पत्नी साल के पांच दिन तक आपस में हंसी-मजाक नहीं कर सकते. यही नहीं महिलाएं पांच दिन तक कपड़े भी नहीं पहनतीं.

उन्हें पांच दिन तक ऊन से बने पट्टू ओढ़ने पड़ते हैं. इस अनोखी परंपरा का पालन हर साल 17 से 21 अगस्त तक यानि पांच दिनों तक करना पड़ता है. ऐसा पीणी फाटी के दर्जनों गांवों की महिलाएं निभाती हैं. यही नहीं इनदिनों में लोग मदिरापान से भी नहीं करते. ऐसी मान्यता है कि लाहुआ घोंड देवता जब पीणी पहुंचे थे तो उस दौरान राक्षसों का बोलबाला था. भादो संक्रांति यानि काला महीने के पहले दिन देवता ने पीणी में पांव रखते ही राक्षसों का खात्मा किया था.

ये भी पढ़ें- रहस्यमय तरीके से हुई प्रेग्नेंट महिला की मौत, सच्चाई जानकर दंग रह गए लोग

ये भी पढ़ें- अकेलापन दूर करने के लिए पुलिस को कॉल कर ऐसी बातें करता था ये शख्स, पांच साल की हो गई सजा

कहा जाता है कि इसके बाद ही देव परंपरा के अनुसार यहां अनोखी विरासत शुरू हो गई. इसके बाद स्त्री-पुरुषों को पांच दिनों के लिए हंसी-मजाक करने की मनाई की थी. महिलाओं को कपड़े की जगह खास तरह के पट्टू ओढ़ने की परंपरा शुरू हो गई. इसी परंपरा को आज भी पीणी फाटी के लोग करते आ रहे हैं.

ये भी पढ़ें- बेेटे को मारने के लिए मां ने Google से खोजा खतरनाक तरीका, फिर ऐसे दी दिल दहला देने वाली मौत

ये भी पढ़ें- इंसानों की तरह सांस लेते हैं पेड़-पौधे! वीडियो में देखिए अद्भुत नजारा

इन दिनों में क्षेत्र की महिलाएं पारंपरिक पहनावा पट्टू पहनकर माता भागासिद्ध और लाहुआ घोंड देवता की चाकरी करती हैं. जानकारों के मुताबित भादो महीने के शुरुआती पांच दिनों में पूरी पीणी गांव के लोगों को कड़े देव नियमों का पालन करना पड़ता है. पत्नी-पत्नी सहित सभी हारियान क्षेत्र में हंसी-मजाक नहीं कर सकते.

ये भी पढ़ें- मेकअप कराने गई थी ये लड़की, ब्यूटीशियन ने किया कुछ ऐसा कि आंखों की…

ये भी पढ़ें- चप्पल नहीं पहनते इस गांव के लोग, ऐसा करने वाले को भुुगतना पड़ता है अंजाम

First published: 29 October 2018, 13:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी