Home » अजब गजब » World’s Biggest Family Ziona Chana Lives With 39 Wives and 181 Family Members In 100 Room House in Mizoram
 

39 बीवियों के साथ रात गुजारता है ये भारतीय मर्द, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है नाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 August 2018, 14:49 IST

दुनिया में तमाम ऐसी अनोखी चीजें है जिनके बारे में आपक आजतक नहीं जान पाए होंगे, क्या कभी आपने दुनिया के सबसे बड़े परिवार के बारे में सुना है. जो हमारे देश के मिजोरम राज्य में है. इस परिवार में 181 सदस्य हैं जो 100 कमरों की एक इमारत में रहता है. वहीं परिवार के मुखिया की 39 बीवियां हैं.

 

दरअसल, जिओना चाना नाम के शख्स ने 39 महिलाओं से शादी की है. इस वजह से उनका परिवार दुनिया का सबसे बड़ा परिवार बन गया है. इतनी महंगाई के बावजूद जिओना चाना अपनी 39 पत्नियों और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ खुशी से रहते हैं.

जिओना चाना की 39 पत्नियों के 94 बच्चे हैं. यही नहीं इन बच्चों की 14 बहुएं भी है और उनके 33 बच्चे और उनका एक छोटा प्रपौत्र भी है. जिन्हें वो बहुत प्यार करते हैं. जिओना चाना अपने बेटों के साथ बढ़ई का काम करते हैं. और वो मिजोरम के बटवंग गांव में रहते हैं. जहां उनका बड़ा सा मकान बना हुआ है. जिसमें कुल सौ कमरे हैं.

जियोना दुनिया के इस सबसे बड़े परिवार के मुखिया होने पर गौरवान्वित महसूस करते हैं. यही नहीं जिओना अपने परिवार को बड़े अनुशासन से चलाते हैं. जिओना के बड़े पुत्र नुनपरलियाना की पत्नी थेलेंजी बताती हैं कि परिवार में सब लोग बड़ी खुशी से रहते हैं और लड़ाई-झगड़े जैसी कोई बात नहीं है. खाना बनाने और घर के अन्य कामकाज भी सब मिलकर करते हैं.

यही नहीं पूरा परिवार खाना बनाने के लिए एक ही किचन का इस्तेमाल करता है. यानी परिवार के सभी सदस्यों का खाना एक ही किचन में बनता हैपरिवार चलाने के लिए इस परिवार की सभी महिलाएं खेती करती हैं और घर चलाने में अपना योगदान देती हैं. जिओना की सबसे बडी पत्नी मुखिया की भूमिका निभाती है और घर के सभी सदस्यों के कार्यों का बंटवारा करने के साथ ही कामकाज पर नजर भी रखती हैं.

ये परिवार इतना बड़ा है कि यहां एक आम परिवार में जितना राशन दो महीने चलता है, इस परिवार की भूख मिटाने के लिए हर दिन उतना राशन खर्च हो जाता हैइस परिवार में एक दिन में 45 किलो से ज्यादा चावल, 30-40 मुर्गे, 25 किलो दाल, दर्जनों अंडे, 60 किलो सब्जियों की जरूरत होती है. इसके अलावा इस परिवार में लगभग 20 किलो फल की भी हर रोज खपत हो जाती है.

परिवार में इतने सदस्यों के नाम, उनके जन्मदिन और उनके अन्य क्रियाकलाप पर नजर रखना कितना मुश्किल होता है, इस बारे में जिओना के सबसे बड़े पुत्र नुनपरलियाना बताते हैं कि परिवार में सभी सदस्यों के नाम याद रखना मुश्किल नहीं हैनुनपरलियाना बताते हैं कि जब लोग अपने ढेरों दोस्तों के नाम याद रख लेते हैं तो हम उसी तरह अपने भाई बहनों और अपने तथा उनके बच्चों के नाम याद रखते हैं. लेकिन जन्मदिन याद रखने में दिक्कत होती है, लेकिन किसी न किसी को याद रह ही जाता है.

बता दें कि इस इलाके की सियासत में भी चाना परिवार का काफी महत्व है. एक साथ एक ही परिवार में इतने सारे वोट होने की वजह से तमाम नेता और इलाके की राजनीतिक पार्टियां जियोना चाना को तवज्जो देती हैंएक तरफ जहां देश में संयुक्त परिवार की परंपरा बदल रही है, वहीं एक ही छत के नीचे इतने बड़े परिवार का एक साथ रहना आश्चर्य के साथ साथ एक सुखद एहसास भी देता है.

बता दें कि दुनिया का सबसे बड़ा परिवार होने की वजह से ही जिओना चाना का परिवार का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज है. जो एक गांव के बराबर माना जाता है.

ये भी पढ़ें-

First published: 5 August 2018, 14:49 IST
 
अगली कहानी