Home » बिहार » 1771 liquor bottles seized from muzaffarpur pond in bihar by police
 

बिहार: मछलियां पकड़ने को डाला जाल, निकली 1771 शराब की बोतलें

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 November 2017, 12:59 IST

बिहार में शराबबंदी को लेकर वहां के सीएम नीतीश कुमार कितने भी दावे करें पर उनके दावों को माफिया लगातार गलत साबित कर रहे हैं. बिहार में शराबबंदी के बावजूद अवैध तरीके से शराब बेची जा रही है, माफिया बिहार में शराब रखने के नए नए तरीके खोज रहे हैं. बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के कटरा में एक ऐसा ही हैरान करने वाला मामला सामने आया है.

बिहार के कटरा थाना क्षेत्र में माफियाओं ने शराब छिपाने के लिए तालाब को चुना. पुलिस ने जब तालाब में जाल डाला तो मछलियों की जगह शराब की बोतलें फंसने लगी. पुलिस ने तालाब से करीब 1,771 शराब की बोतलें बरामद की हैं. तालाब में अवैध रूप से बेचने के लिए इन बोतलों में 560 लीटर शराब रखी गई थी. पुलिस ने भले ही कटरा थाना क्षेत्र से शराब की बोतलें बरामद की हैं पर वो इस मामले में अब तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं कर पाई है. 

कटरा के थाना प्रभारी रतन कुमार यादव ने सोमवार को बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि धनौर गांव में एक तालाब के अंदर छिपाकर बड़ी संख्या में शराब की बोतलें रखी गई हैं.उन्होंने बताया कि रविवार की देर शाम तालाब में ग्रामीणों और मछली पकड़ने वाले जाल की मदद से पांच फुट पानी के अंदर से 1,771 शराब की बोतलें जब्त की गई हैं.

यादव ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है, जिसमें आठ लोगों को आरोपी बनाया गया है. इन लोगों की गिरफ्तारी के लिए कई जगह छापेमारी की जा रही है. पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है.

गौरतलब है कि बिहार में नीतीश कुमार सरकार ने अप्रैल 2016 से पूर्ण रूप से शराब को बैन कर दिया गया है. लेकिन इसके बावजूद वहां अवैध रूप से शराब की ब्रिकी की जा रही है और लगातार ऐसे मामले सामने आ रहे हैं.  

First published: 6 November 2017, 12:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी