Home » बिहार » 23 people killed in Heavy rain incidents in Bihar
 

बिहार: मानसून से पहले बर्बादी की बारिश ने ली 23 की जान

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 May 2017, 10:13 IST

बिहार में मानसून से पहले हुई बारिश ने तबाही मचा दी है. रविवार को बारिश के बीच बिजली गिरने, आंधी और तूफान के दौरान अलग-अलग हादसों में 23 लोगों की मौत हो गई है. पूर्वी और पश्चिम चंपारण जिलों में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है.

आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक इस आसमानी आफत ने बिहार में कई लोगों की ज़िंदगी ले ली. बिहार के पश्चिम चम्पारण में 6, जबकि पूर्वी चम्पारण में 5 लोगों की मौत हुई है. इसके अलावा जमुई में 4, जबकि मधेपुरा, मुंगेर और भागलपुर में 6 लोगों की मौत हो गई. वैशाली और समस्तीपुर में एक-एक व्यक्ति की मौत की सूचना है. हालांकि अनाधिकारिक आंकड़ों में मरने वालों की तादाद कहीं ज्यादा बताई जा रही है.

ज्यादातर मौतें बिजली और पेड़ गिरने से

रविवार की सुबह से ही आपदा प्रबंधन विभाग ने बिहार के कई जिलों में आंधी और तूफान को लेकर अलर्ट जारी किया था. दोपहर 11.15 लेकर 3.30 के बीच 60 से 70 किलोमीटर की रफ्तार से आंधी तूफान के साथ-साथ बरिश का अलर्ट जारी किया गया था.  जानकारी के मुताबिक ज्यादातर मौतें बिजली और पेड़ गिरने के कारण दबने से हुई. कई मवेशियों के मरने की भी सूचना है.

पश्चिम चंपारण के योगापट्टी अंचल अधिकारी शंभूनाथ राम ने बताया कि मरने वालों में मैनेजर चौधरी, चन्द्रावती देवी, शंभा देवी, रीमा कुमारी और परमशीला कुमारी की मौत दीवार गिरने के कारण हुई.

वहीं, लौरिया अंचल के धोबनी वृत्ता टोला गांव निवासी मुकेश कुमार की भी आंधी-तूफान की चपेट में आकर मौत हो गई. राज्य सरकार ने पीड़ितों के परिवार वालों के लिए चार-चार लाख रुपये मुआवजा राशि की घोषणा की है.

First published: 29 May 2017, 10:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी