Home » बिहार » after Shantaram Naik Congress leader L P Shahi passes away at the age of 98, Rahul Gandhi expresses condolences and prayer for him
 

एक ही दिन में कांग्रेस के दो नेताओं का निधन, राहुल बोले- उनकी कमी खलेेगी

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 June 2018, 13:59 IST

वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ललितेश्वर प्रसाद शाही का शनिवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में निधन हो गया. एल पी शाही के नाम से जाने जाने वाले ललितेश्वर 98 साल के थे. परिवार वालों ने बताया कि उनको सीने में दर्द की शिकायत थी जिसके बाद उन्हें गुरुवार को एम्स में भर्ती कराया गया था.

एम्स में उनका तड़के करीब तीन बजे निधन हो गया. खबर है कि एल पी शाही का पार्थिव शरीर शनिवार की शाम को पटना लाया जाएगा. वहीं, अंतिम संस्कार अगले दिन(रविवार) पटना में होगा. बता दें कि दिग्गज कांग्रेस नेता सन 1980 में जनता पार्टी के जय नारायण प्रसाद को हराकर बिहार से विधायक बने थे. शाही 1984 में मुजफ्फरपुर से सांसद बने और बाद में उन्होंने शिक्षा एवं संस्कृति मंत्री के रूप में काम किया.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ललितेश्वर प्रसाद शाही के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उनकी कमी पार्टी के सभी नेताओं को खलेगी. राहुल ने ट्वीट कर कहा, "एल.पी. शाही. स्वतंत्रता सेनानी, पूर्व केंद्रीय मंत्री और सीडब्ल्यूसी (कांग्रेस कार्यकारिणी समिति) के सदस्य की कमी हम सबको खलेगी."

 

उन्होंने कहा, "दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदना और प्रार्थना उनके परिवार के साथ है. उनकी आत्मा को शांति मिले." बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी शाही के निधन पर शोक व्यक्त किया और कहा, "शाही के निधन के साथ समाज ने एक महान नेता और सामाजिक कार्यकर्ता खो दिया है. यह राजनीति और समाज के लिए एक अपूरणीय क्षति है."

ये भी पढ़ेंः दुखद: गोवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद शांताराम नाईक की हार्ट अटैक से मौत

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्युलर) के प्रमुख जीतन राम मांझी ने शोक संदेश में कहा, "बिहार ने एक महान नेता और एक साहित्यकार को खो दिया है और व्यक्तिगत रूप से यह मेरे लिए बहुत बड़ी क्षति है." बता दें कि आज ही गोवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद शांताराम नाईक का भी निधन हो गया.

First published: 9 June 2018, 13:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी