Home » बिहार » Attack on the leader of the Janaadhikar Party Leader and MP Pappu Yadav in Muzaffarpur
 

भारत बंद: सांसद पप्पू यादव पर हुआ हमला, रोते हुए बोले- गार्ड नहीं होता तो मुझे जान से मार डालते

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 September 2018, 16:49 IST

मोदी सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलटते हुए एससी-एसटी एक्ट में संसोधन के विरोध में सवर्ण समाज ने आज भारत बंद बुलाया है. सवर्ण संगठनों द्वारा देशभर में प्रदर्शन किया जा रहा है. कई जगह से हिंसा होने की भी खबरें आई हैं. भारत बंद का सबसे ज्यादा असर बिहार, राजस्थान, मध्यप्रदेश में दिख रहा है. बिहार में कई जगह आगजनी होने की भी खबर है. मुजफ्फरपुर में बंद समर्थकों ने जनाधिकार पार्टी के नेता और बिहार से सांसद पप्पू यादव पर हमला कर दिया है. इस हमले में पप्पू यादव के घायल होने की खबर है.

मीडिया खबरों के अनुसार, पप्पू यादव मधुबनी में पदयात्रा के लिए जा रहे थे. इस दौरान मुजफ्फरपुर में कुछ लोगों ने उनको घेर लिया उन पर हमला कर दिया. इस हमले में पप्पू यादव घायल हो गए हैं. हमले के बाद पप्पू यादव मीडिया से बात करते हुए रोने लगे. यूट्यूब चैनल लाइव सिटी के अनुसार, पप्पू यादव ने बताया कि पीछे से हमला कर दिया. मैं कह रहा था भाई मैं सपोर्ट में हूं कोई दिक्कत नहीं है. उसके बाद मुझको मां-बहन लगाकर के गाली दिया. साथ ही कहा कि ....दिखाते गुंडई.

पप्पू यादव ने कहा है कि अगर मेरा गार्ड नहीं होता तो ये लोग मुझे मार देते. मैंने इस दौरान एसपी, आईजी और सीएम को फोन किया लेकिन किसी नहीं उठाया. मुझे जिस तरह से मारा है मैं उसके बारे में बता नहीं सकता.

हमले के बाद पप्पू यादव ने ट्वीट कर नीतीश कुमार पर निशाना भी साधा है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, महाजंगलराज का नंगा नाच. नारी बचाओ पदयात्रा में मधुबनी जाने के दौरान हमारे काफिले पर भारत बंद के नाम पर गुंडों ने हमला किया, कार्यकर्ताओं को बुरी तरह जाति पूछ-पूछकर पीटा है. आखिर बिहार में कोई शासन-प्रशासन है, या, नहीं! सीएम नीतीश कुमार आप किस कुम्भकर्णी नींद में सोए हैं.

इसके अलावा भी बिहार में अन्य जगह भी प्रदर्शनकारियों ने आगजनी की घटनाओं को अंजाम दिया है. जहानाबाद में बंद कर रहे समर्थकों ने पथराव किया है. इस पथराव में ASP संजय सिंह घायल हो गए हैं. ASP को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. आरा में बंद समर्थकों और पुलिस के बीच झड़प हो गई. बंद समर्थकों ने पुलिस पर पथराव सुरू कर दिया. जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस को प्रदर्शनकारियों को भगाने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा.

मध्यप्रदेश के ग्वालियर में सवर्ण समाज के लोगों ने कांग्रेस मुख्यालय पर काले झंडे दिखाए और विरोध में कागज चस्पा किया. ब्राह्मण, क्षत्रिय और ओबीसी समाज के लोगों ने ज्योतिरादित्य सिंधिया और राहुल गांधी के पोस्टरों पर काले कपड़े लगाए.आंदोलन को देखते हुए ग्वालियर में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री जयभान सिंह, मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री माया सिंह, कैबिनेट मंत्री नारायण सिंह कुशवाहा के घर की सुरक्षा को कड़ा कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें- 

First published: 6 September 2018, 16:49 IST
 
अगली कहानी