Home » बिहार » bank manager bride reaches groom house with barat in danapur bihar
 

बारात लेकर लेफ्टिनेंट कमांडर दूल्हे के घर पहुंची बैंक मैनेजर दुल्हन

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 February 2018, 15:42 IST

आपने अब तक दूल्हे को ही दुल्हन के घर बारात ले जाते देखा होगा, लेकिन बिहार के शहर में कुछ अलग ही नजारा देखने को मिला. जहां दूल्हा नहीं बल्कि दुल्हन खुद बारात लेकर दूल्हा के घर पहुंची. जहां दुल्हा के परिजनों से बारात का स्वागत किया.

ये भी पढ़ें- VIDEO: 24 मंजिला इमारत से युवक ने लगाई छलांग, नहीं खुला पेराशूट..और फिर

दरअसल, दानापुर में दुल्हन खुद बैंड-बाजा के साथ बारात लेकर दूल्हा के घर पहुंची. दुल्हन स्नेहा मुंबई में एक बैंक में असिस्टेंट मैनेजर है. वहीं दूल्हा अनिल कुमार यादव इंडियन नेवी में लेफ्टिनेंट कमांडर हैं. दुल्हन स्नेहा का परिवार उनकी शादी अपने पैतृक गांव से करना चाहता था. स्‍नेहा भी इस बात से काफी खुश हुई. उसके बाद जो हुआ वह इलाके में चर्चा का विषय बन गया.

दरअसल, दानापुर में दुल्हन खुद बैंड-बाजा के साथ बारात लेकर दूल्हा के घर पहुंची. दुल्हन स्नेहा मुंबई में एक बैंक में असिस्टेंट मैनेजर है. वहीं दूल्हा अनिल कुमार यादव इंडियन नेवी में लेफ्टिनेंट कमांडर हैं. दुल्हन स्नेहा का परिवार उनकी शादी अपने पैतृक गांव से करना चाहता था. स्‍नेहा भी इस बात से काफी खुश हुई. उसके बाद जो हुआ वह इलाके में चर्चा का विषय बन गया.

रथ पर सवार हो कर आई दुल्हन

स्नेहा अपनी शादी को यादगार बनाना चाहती थी. इसीलिए उसने दूल्‍हों के बारात लेकर आने वाली परंपरा को तोड़ खुद बारात लेकर दूल्हा के घर जाने का फैसला किया. वह खुद दुल्‍हन के ल‍िबास में तैयार होकर रथ पर सवार हुई. इसके बाद गाजे-बाजे के साथ पूरी बारात लेकर दानापुर आर्मी गेस्ट हाउस के लिए रवाना हो गई. बारात में सभी लोगों ने खूब मस्‍ती की. रथ पर बैठी दुल्‍हन को देख कर लोग हैरान हो रहे थे. जब बारात दूल्‍हे के दरवाजे पर पहुंची तो उनका भव्‍य स्‍वागत किया गया. उसके बाद पूरे रस्‍मों र‍िवाज के साथ शादी संपन्न हुई.

 

दोनों परिवारों की सहमति से दुल्हन लाई थी बारात

बताया जा रहा है कि दोनों परिवारों ने आपसी रजामंदी से दुल्हन की बारात निकालने के इस नए रिवाज की शुरुआत की. साथ ही शादी में दहेज ना लेकर दहेज मुक्त समाज बनाने की मिसाल कायम कर दी. दुल्हन स्नेहा के मुताबिक दहेज मुक्त समाज बने उसके लिए दुल्हन की बारात निकालने की नई शुरुआत होनी चाहिए. जिसे हमने स्थापित किया. वहीं दूल्हा अनिल भी दुल्हन के बारात लाने से खुश है.

First published: 26 February 2018, 15:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी