Home » बिहार » Bihar: all is not well in bjp jdu alliance, bjp leaders written letter to bihar dgp for communal violence
 

बिहार: भाजपा-जदयू में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा, क्या टूट जाएगा गठबंधन?

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 April 2018, 14:50 IST

करीब 9 महीने पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार महागठबंधन से नाता तोड़ एनडीए में शामिल हो गए थे. उन्होंने बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बना ली थी. लेकिन अब इतने दिनों बाद एनडीए में खटपट की खबर आ रही है. खबर है कि पिछले कुछ दिनोें में राज्य में हुईं सांप्रदायिक हिंसा की घटनाओं की वजह से बीजेपी और जदयू नेता एक दूसरे से नाराज चल रहे हैं.

दरअसल, साम्प्रदायिक हिंसा के मामलों के बाद नीतीश सरकार ने आरोपियों के खिलाफ सख्ती दिखाई है. इस पर सरकार की सहयोगी पार्टी बीजेपी के नेताओं ने सरकारी अधिकारियों की कार्रवाई पर सवाल खड़े किए हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बीजेपी के 13 नेताओं ने राज्य के डीजीपी के एस द्विवेदी को पत्र लिखकर हिंदुओं के खिलाफ दोहरा चरित्र अपनाने का आरोप लगाया है. बीजेपी नेताओं ने आरोप लगाया है कि साम्प्रदायिक दंगों के मामले में कई निर्दोष लोगों को गिरफ्तार किया गया है और उनके खिलाफ भेदभावपूर्ण तरीके से कार्रवाई की गई है.

पढ़ें- दुखदः शोले और दीवार में दमदार रोल निभाने वाले इस एक्टर की मौत

बीजेपी नेताओं ने आरोप लगाया कि सरकारी पुलिस तंत्र बहुसंख्यक हिन्दुओं के साथ सख्ती से पेश आ रहा है जबकि मुसलमानों के साथ हमदर्दी दिखाई जा रही है. बीजेपी नेताओं ने इस मामले की निष्पक्ष जांच की भी मांग की है. इन नेताओं ने अपनी मांग का पत्र डीजीपी से मिलकर उन्हें सौंपा है.

बीजेपी नेता संजीव चौरसिया ने डीजीपी से मुलाकात के बाद प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि डीजीपी ने मामले में पारदर्शिता बरतने का भरोसा दिया है. चौरसिया ने कहा कि डीजीपी ने कहा है कि जांच पूरा होने के बाद किसी भी निर्दोष को दंडित नहीं किया जाएगा और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

गौरतलब है कि रामनवमी और हनुमान जयंती के मौके पर राज्यभर में साम्प्रदायिक हिंसा फैली थी. समस्तीपुर में दंगों के दौरान उपद्रवियों ने एक मस्जिद को नुकसान पहुंचाया था. दो दिन पहले क्षतिग्रस्त हुए मस्जिद के पुनरोद्धार के लिए नीतीश कुमार ने सरकारी सहायता का ऐलान किया है. साथ ही उन लोगों को मुआवजे का भी ऐलान किया है जिनकी दुकानें साम्प्रदायिक दंगों की आग में जल गई थीं.

इसे लेकर बीजेपी के कुछ नेताओं ने इसे मुस्लिमों की तुष्टिकरण करार दिया था. तभी से ऐसा माना जा रहा है कि बिहार में भाजपा और जदयू में सबकुछ ठीक नहीं है.

First published: 7 April 2018, 14:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी