Home » बिहार » Bihar Assembly Election 2020: FIR registered against Tejaswi Yadav and Tej Pratap Yadav in Purnia RJD Leader murder case
 

बिहार: पूर्णिया में आरजेडी के पूर्व नेता की हत्या मामले में तेजस्वी और तेजप्रताप समेत 6 के खिलाफ एफआईआर दर्ज

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 October 2020, 6:26 IST

Bihar Assembly Election 2020: बिहार (Bihar) में इनदिनों चुनावी हलचल तेज है. इसी बीच राष्ट्रीय जनता दल (RJD) को बड़ा झटका लगा है. दरअसल, रविवार को बिहार के पूर्णिया (Purnia) में हुई आरजेडी के पूर्व नेता शक्ति मलिक (Shakti Malik) की हत्या के मामले में बिहार पुलिस (Bihar Police) ने पार्टी के शीर्ष नेता तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav), तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) और अनिल कुमार साधु (Anil Kumar Sadhu) समेत 6 लोगों के एफआईआर (FIR) दर्ज की है. परिवार की ओर से दर्ज बयान के आधार पर बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव, एससीएसटी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार साधु पासवान, अररिया के आरजेडी नेता कालो पासवान समेत छह लोगों पर शक्ति मलिक की षड़यंत्र के तहत हत्या कराने का आरोप लगा है.

ये एफआईआर पूर्णिया के केहट थाने में दर्ज की गई है. पूर्णिया के पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा ने इन नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की पुष्टि की है. गौरतलब है कि आरजेडी के अनुसूचित जाति-जनजाति प्रकोष्ठ के पूर्व सचिव शक्ति मलिक की रविवार सुबह कुछ हथियारबंद अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. शक्ति की पत्नी खुशबू देवी ने इस मामले में रविवार शाम तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव और अनिल कुमार साधु समेत 6 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करवाई. परिजनों का आरोप है कि ये लोग शक्ति को जान से मारने की धमकी देते थे.


Hathras Case: BJP विधायक का बयान- लड़कियों के संस्कारित न होने की वजह से होती हैं रेप की घटनाएं

बता दें कि रविवार तड़के सुबह तीन नकाबपोश अपराधियों ने घर में घुस कर शक्ति मलिक पर अंधाधुंध गोलियां चला दी और उसके बाद वहां से फरार हो गए. जिस वक्त शक्ति मलिक पर गोलियां चलाई गई उस वक़्त घर में सिर्फ बच्चे और उनकी पत्नी के अलावा ड्राइवर ही था. उसके बाद आनन फानन में शक्ति को सदर अस्पताल लाया गया जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. बता दें कि शक्ति मलिक 2019 में राष्ट्रीय जनता दल (RJD) में शामिल हुए थे और उसके बाद उन्हें पार्टी के अनुसूचित जाति-जनजाति प्रकोष्ठ का सचिव बनाया गया था.

SSR Case: दीपिका, श्रद्धा और सारा से ड्रग्स मामले में पूछताछ करने वाले अधिकारी निकले कोरोना पॉजिटिव

कुछ समय पहले शक्ति मलिक ने तेजस्वी यादव के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए गए थे. उन्होंने कहा था कि वह रानीगंज विधानसभा से चुनाव लड़ने के लिए जब तेजस्वी से मिले तो उन्होंने उनसे 50 लाख रुपये की मांग की. इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि तेजस्वी से मुलाकात के दौरान उन पर जातिसूचक टिप्पणी की गई थी. यही नहीं शक्ति मालिक का पिछले दिनों एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें वह तेजस्वी यादव पर पैसे मांगने का आरोप लगाते नजर आए थे. इस वायरल वीडियो में मलिक बता रहे थे कि वह किस तरीके से आरजेडी नेता अनिल कुमार साधु तेजस्वी से मिले थे और रानीगंज विधानसभा सीट से चुनाव के लिए टिकट की मांग की थी.

COVID-19 Update: दुनियाभर अब तक तीन करोड़ 52 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित, 10.39 लाख की मौत

First published: 5 October 2020, 6:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी