Home » बिहार » Bihar Assembly Elections: Has seat sharing formula been set between BJP, JDU and LJP
 

बिहार विधानसभा चुनाव: क्या BJP, JDU और LJP में सेट हो गया है सीट शेयरिंग का फॉर्मूला

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 August 2020, 18:57 IST

Bihar Assembly Elections 2020: बिहार विधानसभा चुनाव के लिए सारी पार्टियों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. इस बीच खबर आ रही है कि भारतीय जनता पार्टी, जदयू और एलजीपी में शीट शेयरिंग का फॉर्मूला तय हो गया है. राजनीतिक गलियारों में ये चर्चा जोरों पर है कि NDA के घटक दलों में सीट शेयरिंग को लेकर सहमति बन गई है.

सूत्रों के अनुसार खबर आ रही है कि एनडीए में 110:100:33 के फॉर्मूले पर बात आगे बढ़ी है. इसका मतलब यह है कि सीएम नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल युनाइटेड यानि JDU सबसे ज्यादा 110 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. इसके बाद भारतीय जनता पार्टी 100 सीटों पर और राम विलास पासवान की पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी यानि LJP 33 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

यह माना जा रहा है कि बातचीत पूरी होने के बाद एनडीए की ये तीनों पार्टियां एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस फॉर्मूले का औपचारिक ऐलान कर सकती हैं. हालांकि सूत्र यह भी कहते हैं कि एक दो सीट इसमें अपवाद भी हो सकती हैं. यानि कि जो फॉर्मूले की बात की गई है, इसमें एक दो सीटों पर फेरबदल हो सकता है.

क्या बंद होने वाला है 2000 रुपये का नोट? RBI ने बताया- 2019-20 में नहीं हुई नए नोट की छपाई

बता दें कि कुछ दिनों पहले बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर एक बार फिर साफ किया था कि एनडीए की तरफ से नीतीश कुमार ही मुख्यमंत्री पद के नेता होंगे. एनडीए की तरफ से लगातार यह बातें सभी पार्टियां कह भी रही हैं कि सीएम नीतीश कुमार की लीडरशिप में ही जेडीयू, बीजेपी और एलजेपी चुनाव मैदान में उतरेगी.

बता दें कि सिर्फ साल 2015 का विधानसभा चुनाव छोड़ दें तो भारतीय जनता पार्टी और जेडीयू ने कई बार साथ चुनाव लड़ा है. शुरुआत से ही जेडीयू बड़े भाई की भूमिका में रहा है. इस दौरान साल 2005 तथा 2010 में जेडीयू ने बिहार विधानसभा चुनाव में 142 सीटों पर और बीजेपी ने 101 सीटों पर चुनाव लड़ा था.

2005 के बिहार विधानसभा चुनाव में जेडीयू ने 88 सीटों पर जीत दर्ज की थी, जबकि भाजपा को 55 सीटों पर जीत हासिल हुई थी. इसके बाद साल 2010 के चुनाव में जेडीयू को 115 सीटों पर जीत मिली थी, जबकि बीजेपी को 91 सीटों पर बढ़त हासिल हुई थी. लेकिन 2015 में जेडीयू ने बीजेपी का साथ छोड़ लालू यादव की पार्टी राजद और कांग्रेस के साथ चुनाव लड़ा था.

Coronavirus: दिल्ली में रिकवरी रेट 90 फीसदी से ज्यादा, केजरीवाल बोले- अमेरिका ने भी अपनाया दिल्ली मॉडल

नीरव मोदी की पत्नी के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में इंटरपोल ने जारी किया रेड कॉर्नर नोटिस

First published: 25 August 2020, 18:57 IST
 
अगली कहानी