Home » बिहार » Bihar chief minister nitish kumar attacked by villagers during a samiksha yatra in buxar
 

बिहार के सीएम नीतीश कुमार के काफिले पर हुआ बड़ा हमला

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 January 2018, 16:07 IST

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमले की एक बड़ी खबर सामने आई है. बक्सर में भीड़ द्वारा उन पर हमला किया गया है. इसमें कई सुरक्षाकर्मियों के घायल होने की खबर है. खबर है कि भीड़ ने मुख्यमंत्री के काफिले पर पत्थर फेंके और नीतीश के खिलाफ नारेबाजी की.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर पत्थराव होते ही सुरक्षाकर्मियों ने नीतीश कुमार को अपने घेरे में ले लिया और उन्हें सुरक्षित गाड़ी में बैठा दिया. यह घटना बक्सर के नंदन में उस समय हुई जब नीतीश कुमार 'समीक्षा यात्रा' में शामिल हो रहे थे. इस पत्थरबाजी में नीतीश के काफिले की कई गाड़ियों के शीशे टूट गए.

जब पत्थरबाजी हुई तो उनके काफिले में भगदड़ मच गई. पत्थरबाजी कर रहे ग्रामीणों का आरोप है कि उनके गांव में कोई भी विकास नहीं हुआ है.

दरअसल नीतीश कुमार इन दिनों विकास कार्यों की हकीकत जानने के लिए बिहार राज्य में आयोजित समीक्षा यात्रा पर हैं. पिछले साल सात दिसंबर को समीक्षा यात्रा पश्चिम चंपारण जिले से शुरू हुई. यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री प्रशासनिक अधिकारियों के साथ हर जिले का दौरा कर रहे हैं और जिले के विकास कामों की समीक्षा कर रहे हैं.

समीक्षा यात्रा के दौरान हर जिले में 'सात निश्चय' से संबंधित योजनाओं की प्रगति, शराबबंदी, बाल विवाह मुक्त एवं दहेज उन्मूलन कार्यक्रम, बिहार लोक शिकायत निवारण कानून के क्रियान्वयन सहित विभिन्न कार्यक्रमों में की गई घोषणाओं का अनुपालन और अन्य विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा की जा रही है.

नीतीश की यह यात्रा 18 जनवरी तक जारी रहेगी. इस दौरान कुछ दिनों के लिए मुख्यमंत्री पटना लौटेंगे और फिर कुछ दिनों के अंतराल पर पुन: यात्रा पर निकल जाएंगे. नीतीश अंतिम पड़ाव में 16 से 18 जनवरी के बीच नवादा, गया, औरंगाबाद और जहानाबाद जिले में यात्रा करेंगे.

मधुबनी में दिखाए गए थे काले झंडे

इस समीक्षा यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री को लोगों के विरोध का भी सामना करना पड़ रहा है. मधुबनी में समीक्षा यात्रा के दौरान वित्त रहित शिक्षकों द्वारा मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाए गए. नीतीश कुमार ने जैसे ही भाषण की शुरुआत की, वैसे ही शिक्षकों ने काले झंडे दिखाकर उनका विरोध किया.

First published: 12 January 2018, 16:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी