Home » बिहार » Bihar Grand Alliance Rift:Lalu Yadav and Nitish Kumar will work together after these appeals?
 

इस अपील के बाद बिहार में बच जाएगा महागठबंधन!

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 July 2017, 11:34 IST
आर्या शर्मा/ कैच न्यूज़

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेताओं ने रविवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राज्य की गठबंधन सरकार में सहयोगी लालू प्रसाद से मिल-बैठकर गठबंधन विवाद को सुलझाने का अनुरोध किया है. हालांकि जनता दल (यूनाइटेड) ने रविवार को कहा कि सब कुछ ठीक है.

जद (यू) के प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा, "गठबंधन सरकारों में तनाव और दबाव नजर आ सकता है, लेकिन महागठबंधन में सब कुछ ठीक है." जद (यू) के अध्यक्ष ने नीतीश का नाम लिए बगैर कहा कि काबिल नेतृत्व इस तरह के विवादों को निपटाने में सक्षम होता है.

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा बिहार के उप-मुख्यमंत्री और लालू प्रसाद के छोटे बेटे तेजस्वी यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किए जाने के बाद से महागठबंधन में दरारें दिखाई पड़ने लगी हैं. राजद के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुनाथ झा ने कहा, "लालू और नीतीश कुमार को मिल-बैठ कर, बातचीत के जरिए इस संकट का समाधान निकालना चाहिए."

राजद के ही एक अन्य नेता और पूर्व सांसद शिवानंद तिवारी ने नीतीश से इस संकट को खत्म करने की अपील की. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर महागठबंधन को तोड़ने की साजिश करने का आरोप लगाते हुए शिवानंद तिवारी ने कहा, "मैं नीतीश कुमार से हाथ जोड़कर निवेदन करता हूं कि इस संकट को खत्म करें और महागठबंधन को टूटने से बचाएं."

सूत्रों के अनुसार, अब राजद और जद (यू) के नेता एक-दूसरे पर निशाना साधने की बजाय भाजपा पर हमले करेंगे. जद (यू) के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने बताया कि इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को अपने सरकारी आवास पर पार्टी विधायकों और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को संबोधित करने के दौरान तेजस्वी मामले में एक शब्द नहीं कहा.

वहीं लालू ने भी रविवार को अपने सरकारी आवास पर पार्टी विधायकों और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की. हालांकि इस दौरान उन्होंने भी गठबंधन विवाद को लेकर कुछ नहीं कहा.
(स्रोत- आईएएनएस)

First published: 17 July 2017, 11:34 IST
 
अगली कहानी