Home » बिहार » Bihar: No ambulance in bihar hospital family have to carry the dead body in motor cycle
 

बिहार में बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था, एंबुलेंस न मिलने पर बाइक पर ले जाना पड़ा बच्चे का शव

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 July 2018, 10:12 IST

बिहार की बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था का खुलासा तब हुआ जब एक 13 साल के बच्चे के शव को ले जाने के लिए एम्बुलेंस भी नहीं मिली. मामला बिहार के बाढ़ अनुमंडलीय अस्पताल का है. यहां एक 13 साल के बच्चे के शव को ले जाने के लिए अस्पताल एक एम्बुलेंस तक मुहैया नहीं करा पाया. 13 साल के प्रताप मान के एक बच्चे के शव को ले जाने के लिए परिजनों को एम्बुलेंस नहीं मिली तो उसे मोटर साइकिल पर ले जाना पड़ा.

घटना के बाबत, अस्पताल के डीएस का कहना है कि एक ही एंबुलेंस हैं जिसका इस्तेमाल प्रसव पीड़ित महिलाओं को लाने और ले जाने में किया जाता है. उनका कहना है कि यहां एक और एंबुलेंस की आवश्यकता है.

ये भी पढ़ें- राम मंदिर के बाद अब इस मंदिर को लेकर शुरु हुई सियासत

सीएम मांझी भी फंसे कीचड़ में
बिहार की हालत का पता इस घटना से ही चलता है कि कल बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी का काफिला बारिश से जमे कीचड़ में आधे घंटे तक फंसा रहा. बाद में पता चला की आगे चलने वाले वाहनों के साथ एक एम्बुलेंस कीचड़ में फंसी हुई थी जिसके कारण ये बदहाल व्यवस्था सामने आयी. तकरीबन आधे घंटे की मेहनत के बाद एम्बुलेंस और मांझी का काफिला कीचड़ से बाहर निकाला जा सका.

First published: 7 July 2018, 10:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी