Home » बिहार » Dinesh Chandra Yadav says on bihar bus accident There was booking for 13 people and 8 people were taken to hospital by authorities
 

बिहार: नीतीश के मंत्री का यू-टर्न, बस में आग लगने से नहीं हुई कोई मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 May 2018, 16:26 IST
(ANI)

बिहार में हुए बस हादसे को लेकर अभी नया मोड़ आया है, इस हादसे को लेकर बिहार के आपदा प्रबंधन मंत्री दिनेश चंद्र यादव ने एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा, " बस में 13 लोगों की बुकिंग थी। 8 लोगों को बचाकर अस्पताल ले जाया गया. 5 लोगों का पता नहीं चला है. मंत्री ने कहा कि हो सकता है कि ये 5 लोग पहले ही उतर गए हों. लेकिन सोचने वाली बात यह है कि जब बस में 13 लोगों की बुकिंग थी और 8 लोगों को अस्पताल ले जाया गया तो 5 लोग कहां पर है.

बता दें कि इस हादसे को लेकर बिहार के आपदा प्रबंधन मंत्री दिनेश चंद्र यादव ने पहले बयान दिया था कि इस हादसे में 27 लोगों की मौत हो गई है. इस मामले में उन्होंने कहा, "हां मैंने कहा कि 27 लोग मारे गए हैं, लेकिन यह जानकारी स्थानीय स्रोतों पर आधारित थी. इसके साथ मैंने यह भी तो कहा था कि अंतिम रिपोर्ट के आने के बाद ही बस हादसे में हुई मौतों के बारें में पता चलेगा."

 वहीं इस हादसे को लेकर मुजफ्फुरपुर पुलिस जोन आईजी अनिल कुमार ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया था कि बस के अंदर कोई शव नहीं मिला. 8 लोगों को बचाया गया और राख को फरेंसिक लैब में भेज कर जानने की कोशिश होगी कि क्या हादसे में किसी की मौत हुई.

गौरतलब है कि बिहार के मोतिहारी में एक बस गहरी खाई में गिर गई थी. इस बस हादसे में अब तक 27 लोगों की मारे जाने की खबर है. वहीं न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक बस का ओवरटर्न लेने की वजह से संतुलन खो गया और वो खाई में गिर गई थी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये बस मुजफ्फरपुर से दिल्ली की ओर जा रही थी. इस बस में 30 लोगों के सवार होने की खबर है.

ये भी पढ़ें: बिहार: मुजफ्फरपुर से दिल्ली जा रही बस गड्ढे में गिरी, 27 लोगों की जिंदा जलकर मौत

बिहार सरकार ने इस हादसे पर दुख जताया है. बिहार की सरकार ने ऐलान किया है कि वो हादसे मारे गए मृतक के परिजनों को 4-4 लाख रुपये मुआवजा देगी. बिहार सरकार ने बताया कि यह राशि मुख्यमंत्री राहत कोष से दी जायेगी. बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने हादसे पर गहरा दुख जताया है. उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रशासन मौके पर मौजूद है. हम हादसे में मारे गए मृतकोें के परिवारों को हरसंभव मदद करेंगे.

First published: 4 May 2018, 16:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी