Home » बिहार » Lalu ji would have been 'Raja Harishchandra' for BJP if he had allied with them says Tejashwi Yadav after get convicted in fodder scam
 

'लालू जी भाजपा के साथ गठबंधन करते, तो राजा हरिश्चंद्र होते'

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 December 2017, 17:54 IST

बिहार के पूर्व सीएम और राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाले के एक और मामले में सजा़ होने के बाद राजनीति तेज हो गई है. आरजेडी के नेता लालू को दोषी ठहराने के पीछे भाजपा का हाथ बता रहे हैं. इसी कड़ी में मंगलवार को लालू प्रसाद यादव के बेटे और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने बड़ा बयान दिया है.

तेजस्वी यादव ने पिता लालू को दोषी ठहराए जाने का विरोध करते हुए भाजपा पर उन्हें झूठे आरोप में फंसाने का आरोप लगाया. तेजस्वी ने भाजपा पर करारा हमला करते हुए कहा, " विरोधियों को अगर लगता है कि जेल जाने के बाद लालू यादव खत्म हो जाएंगे तो ये उनकी बड़ी गलती है. बिहार की जनता गुस्से में है. वो इसका तगड़ा जवाब देगी. अगर लालू जी भाजपा के साथ गठबंधन कर लेते तो भाजपा वालों के लिए वो राजा हरिश्चंद्र’ होते."

गौरतलब है कि लालू प्रसाद यादव को 23 दिसंबर को रांची की स्पेशल कोर्ट ने चारा घोटाले के एक मामले में दोषी करार दिया था. कोर्ट ने करीब 900 करोड़ रुपये के चारा घोटाले में देवघर कोषागार से अवैध निकासी के एक मामले में लालू समेत 15 लोगों को दोषी करार दिया.

कोर्ट इस मामले में 3 जनवरी को सज़ा सुनाएगा. इस फैसले ने लालू के राजनीतिक भविष्य पर भी सवाल उठा दिए हैं." इस मामले में कोर्ट ने 6 लोगों को बरी कर दिया है. इनमें बिहार के पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्र भी शामिल हैं. कोर्ट के फैसले के बाद लालू यादव को रांची की बिरसा मुंडा जेल में बंद है.

चारा घोटाले के इस मामले में दोषी करार

साल 1990 से 1994 के बीच देवघर कोषागार से 89 लाख, 27 हजार रुपये का फर्जीवाड़ा करके अवैध ढंग से पशु चारे के नाम पर निकासी के मामले में लालू समेत 22 लोग आरोपी हैं. सीबीआई ने 27 अक्तूबर, 1997 को इन सबके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था. 21 साल बाद इस मामले में शनिवार को फैसला आ रहा है. बिहार में हुए चारा घोटाले के वक्त लालू प्रसाद यादव बिहार के मुख्यमंत्री थे.

हम आपको बता दें कि लालू यादव को को चारा घोटाले के एक मामले में सज़ा हो चुकी है. लालू प्रसाद यादव को साल 2012 में 900 करोड़ रुपये के चारा घोटाले में चाईबासा कोषागार से 37 करोड़, 70 लाख रुपये की अवैध ढंग से निकासी करने के मामले मे 5 साल की सजा हो चुकी है. इस समय उन्हें सुप्रीम कोर्ट से इस मामले में जमानत मिली है. 

First published: 26 December 2017, 17:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी