Home » बिहार » Liquor bottles recovere from the police van that crushe a pregnant woman to death at Gopalganj,
 

नीतीश की शराबबंदी पर उठते सवाल, पुलिस की 'दारू पार्टी' ने ली गर्भवती महिला की जान

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 April 2018, 14:30 IST

बिहार के सीएम नीतीश कुमार राज्य में पूर्ण शराब-बंदी के दावे करते रहे हैं. नीतीश के इस दावे का पोल-खोल आए दिन बिहार पुलिस की शराब-चिकेन पार्टी से होता है. राज्य के गोपालगंज जिले में पुलिस वालों के दारू-मुर्गे की लत ने एक महिला की जान ले ली. पुलिस की पेट्रोलिंग गाड़ी से कुचलकर एक गर्भवती महिला की मौत हो गई.

इसके अलावा पुलिस की गाड़ी से एक जिंदा मुर्गा और शराब की बोतल बरामद की गई है. इस घटना से राज्य की पुलिस व्यवस्था पर कई तरह के सवाल खड़े किए जा रहें हैं और नीतीश कुमार के खोखले दावे भी उजागर हो रहे हैं.

ये भी पढ़ें -शादी के लिए क्यों एक्साइटेड नहीं हैं तेज प्रताप, दुल्हनियां है एमबीए

गौरतलब है कि बिहार पुलिस अकसर अपने कारनामों के चलते सुर्खियों में रहती है. घटना गोपालगंज जिले के मोहम्मदपुर थाना की थी, जिसमें पुलिस की पेट्रोलिंग करने वाली गाड़ी से कुचलकर एक महिला की मौत हो गई थी और घटना के वक्त पेट्रोलिग गाड़ी से शराब की बोतल और जिन्दा मुर्गा भी बरामद किया गया, जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हो रही और लोग पुलिस वालों की इस हरकत पर तरह तरह के कमेंट्स कर रहे हैं.

इससे पहले पटना के कोतवाली थाने में पुलिसवालों ने मटन पार्टी करने के लिए रिश्वत में बकरा ले लिया था लेकिन पीड़ित की शिकायत पर पार्टी से पहले ही उनकी पोल खुल गई थी. मामले की जानकारी होने पर जिले के एसपी ने जांच के आदेश दिए हैं. जांच के बाद एसपी ने पेट्रोलिंग पार्टी में शामिल एक एएसआई सहित 5 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है. एसपी रविरंजन ने बताया कि पुलिस की पेट्रोलिंग टीम में एक एएसआई, एक हवलदार और तीन सिपाही शामिल हैं. 

First published: 7 April 2018, 14:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी