Home » बिहार » Muzaffarpur rape case: Bihar CM Nitish Kumar says,The matter investigated by CBI and the High Court should monitor their investigation
 

नीतीश कुमार- हाईकोर्ट की निगरानी में मुजफ्फरपुर शेटलर रेप केस की होगी जांच, विपक्ष ना करे राजनीति

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 August 2018, 14:03 IST
(ANI twitter)

मुज़फ्फरपुर बालिका गृह में 34 लड़कियों के साथ रेप मामले को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है. दरिंदगी का ये मामला अब राजनीतिक तूल ले चुका है. इसको लेकर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव सहित सभी विपक्षी दल नीतीश सरकार पर हमला बोल रहे हैं.

इसी बीच एक बार फिर से सीएम नीतीश कुमार ने सोमवार को इस मामले को लेकर मीडिया से बात की. सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हमने मामला सामने आने के बाद इसकी जांच सीबीआई को सौंपने को कहा, और तुरंत सीबीआई ने अपना काम शुरू भी कर दिया है. हम चाहते हैं कि हाईकोर्ट की निगरानी में जांच हो.

नीतीश कुमार ने कहा कि इस मामले की जांच सीबीआई कर रही है, जबकि हाईकोर्ट जांच की निगरानी कर रहा है. मामले की जांच काफी तेजी हो रही है. जो बयान दिया गया है वह सरकार का बयान था. ये कहना कि साहब चुप थे, ये कहना सही नहीं है. जब बयान दिया गया है तो वह सरकार का ही बयान है. मेरी गलती का गलत मतलब निकाला गया.

नीतीश ने कहा कि मैंने पहले भी कहा था कि ये सिस्टम में खामी का ही नतीजा है. इसके लिए हमने बारीकी से जांच की है, पूरे सिस्टम को ही बदलने की जरूरत है. एक-एक फाइल को देखा जा रहा है, मुख्य सचिव के स्तर पर मामले को परखा जा रहा है. हमारी लक्ष्य इस सिस्टम को बदलना है. अब गैर-सरकारी संस्था को ऐसे कामों की जिम्मेदारी नहीं दी जाएगी. अब सिर्फ सरकारी संगठन को ही ये दिया जाएगा.

बिहार सीएम ने कहा कि मेरी और लालू की पुरानी फोटो निकाली गई. कई सवाल उठाए गए. उन्होंने कहा कि पूरी जांच हो रही है. अगर इस मामले में कोई मंत्री भी शामिल पाया जाता है, तो उसको बचाने का प्रयास नहीं किया जाएगा. लेकिन मेरी समझ में ये नहीं आ रहा है कि इस मुद्दे को अभी क्यों उठाया जा रहा है. हमने उसको बुलाया था. उसने इसमें शामिल होने से इनकार कर दिया है. 

इस दौरान नीतीश कुमार ने विपक्ष के जंतर मंतर पर किए गए प्रदर्शन को लेकर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि जो लोग धरना प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन वहां पर ही हंस रहे थे. क्या उन्हें चिंताएं नहीं हैं. जो लोग कैंडल मार्च निकाल रहे थे, उनमें कैसे लोग थे. जो भ्रष्टाचार में लिप्त हैं वो ही भ्रष्टाचार के मुद्दे पर प्रदर्शन कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें-  मुजफ्फरपुर रेप केस मामले में पटना हाईकोर्ट ने CBI और नीतीश सरकार से मांगी जांच रिपोर्ट

First published: 6 August 2018, 13:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी