Home » बिहार » Prime Minister Modi's duplicate elephant ride in Samastipur Bihar to crush Corona virus
 

कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए इस शहर में 'मोदी' ने की हाथी की सवारी!

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 May 2020, 13:12 IST

Modi's duplicate elephant ride: कोरोना वायरस की महामारी (Corona Virus Pandemic) को रोकरे के लिए मोदी सरकार (Modi Government) तमाम उपाय कर रही है. कोविड-19 (COVID-19) के प्रसार को रोकने के लिए ही देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) किया गया हैं. जिसकी अवधि बढ़ाकर अब 17 मई (17th May) कर दी गई है. इसी बीच बिहार (Bihar) के समस्तीपुर (Samastipur) में एक अनोखा नजारा देखने को मिला. जब 'पीएम मोदी' हाथी की सवारी करते नजर आए. ये नजारा देखकर लोग हैरान रह गए.

लोगों को इस बात का यकीन ही नहीं हो रहा था कि 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी' शहरवासियों को कोरोना वायरस से बचने के लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए संदेश दे रहे हैं. इस दौरान लोगों ने 'पीएम नरेंद्र मोदी'को हाथी पर सवार देखकर कोरोना को लेकर जागरुक करते उनकी आवाज भी सुनी. सब अपने- अपने घर से यह देख हैरान हो गए. लेकिन क्या आ जानना चाहेंगे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद बिहार के समस्तीपुर में हाथी पर सवार होकर कोरोना से बचने के लिए लोगों को जागरूक करने पहुंचे थे. तो इसका जवाब है नहीं.


क्योंकि समस्तीपुर के लोगों ने हाथी पर जिस शख्स को मोदी की वेशभूषा में देखा वह पीएम मोदी नहीं थे बल्कि समस्तीपुर के ही रहने वाले भूपेंद्र यादव थे. जो लोगों को कोविड-19 से बचने की सलाह और लॉकडाउन के नियमों का पालन करने को कह रहे थे. बता दें कि भूपेंद्र यादव समस्तीपुर के ही कर्पूरी कॉलेज में प्रोफेसर हैं और गुरुवार को वह शहर के लोगों से अनोखे अंदाज में मिले. वो पीएम मोदी के बोलने की नकल करते हुए लोगों को जागरुक करते दिखे. भूपेंद्र यादव ने कहा कि वो इस संकट के समय पीएम मोदी के नेतृत्व से काफी खुश हैं. इस दौरान वह हूबहू पीएम मोदी के जैसे कपड़े पहने हुए थे और हाथी पर सवार होकर समस्तीपुर की गली-गली में लोगों को जागरुक कर रहे थे.

Coronavirus: कोरोना वायरस चीन से आया, जब तक खत्म नहीं होता इसके साथ जीना होगा : जावड़ेकर

प्रोफेसर भूपेंद्र यादव को शहर की सड़कों पर देखकर लोग हैरान रह गए. इस बात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उनकी आवाज सुनकर घर के झरोखे से ही लोगों ने उनका अभिवादन करना शुरू कर दिया. इस अनोखी पहल को समाज के सभी वर्ग के लोगों ने सराहा है. प्रोफेसर भूपेंद्र यादव का काफिला जिस रास्ते से निकला लोगों में उत्साह देखते ही बन रहा था. कोरोना वायरस के संक्रमण से कैसे बचा जाए. इसके बारे में वो लोगों में जागरूकता फैला रहे थे.

कोरोना वायरसः दुनियाभर में मरने वालों की संख्या 2.39 लाख के पार, भारत में 12 सौ से ज्यादा की मौत

Lockdown 3.0: जानिए किस जोन में किन-किन कामों के लिए मिली छूट और किन पर जारी रहेगी पाबंदी

प्रोफेसर भूपेंद्र यादव के मुताबिक, यह आइडिया पशु प्रेमी महेन्द्र प्रधान का है. पीएम मोदी के एक आह्वान पर लोगों ने जनता कर्फ्यू, थाली बजाना और दीया जलाना एक सकारात्मक सोच के तहत किया. इसलिए पीएम मोदी के हमशक्ल को खोज कर उसे हाथी पर सवार कर कोरोना के प्रति जागरूकता अभियान चलाया गया. जिसे समस्तीपुर के लोगों ने हाथों-हाथ लिया.

Coronavirus: लॉकडाउन में मोदी सरकार का बड़ा तोहफा, अब कहीं भी ले सकेंगे राशन

Coronavirus : केरल में नहीं आया सामने कोई कोरोना वायरस केस, महाराष्ट्र में टूटा सिंगल-डे रिकॉर्ड

First published: 2 May 2020, 13:12 IST
 
अगली कहानी