Home » बिहार » regrets for Fingers, hands raised at PM Modi will be broken, chopped off controversial comments says bihar bjp president nityanand rai
 

भाजपा नेता ने अपने भड़काऊ बयान पर मांगी माफी, पहले दी थी ये धमकी

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 November 2017, 12:13 IST

बिहार के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने नित्यानंद राय ने सोमवार को पीएम मोदी की आलोचना करने वालों को लेकर दिए गए अपने भड़काऊ बयान पर मंगलवार को माफी मांग ली है. उन्होंने अपने इस बयान पर खेद जताते हुए इसे वापस ले लिया है. उनके इस बयान के बाद वो विरोधियों के निशाने पर थे. 

उजियारपुर से लोकसभा सांसद नित्यानंद राय ने मंगलवार को कहा, "मैंने मुहावरे के रूप में ये बात कही थी. मैं इस पर खेद व्यक्त करता हूं और अपने इस बयान को वापस लेता हूं." 

उंगली काटने और तोड़ने की दी थी धमकी

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने सोमवार को वैश्य और कनु (ओबीसी) समुदायों द्वारा आयोजित समारोह में ये बयान दिया था. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने देश को नेतृत्व देने के लिए काफी मुश्किलों का सामना किया है और ये हम सबके लिए गर्व की बात है.

नरेंद्र मोदी के अतीत को याद करते हुए राय ने कहा,  "जिनकी मां खाना परोसती थी, नरेंद्र मोदी को खाना खिलाने बैठी थी, उस थाली में मां को ना बेटा और बेटे को ना मां दिखाई देती थी. आज उस परिस्थिति से उठकर वह देश से पीएम बने हैं. गरीब का बेटा, उसका स्वाभिमान होना चाहिए, एक एक व्यक्ति को इसकी इज्जत होनी चाहिए." 

इसके बाद राय ने आगे कहा, "उनकी ओर उठने वाली उंगुली को, उठने वाले हाथ को, हम सब मिलके या तो तोड़ दें, जरूरत पड़ी तो काट दें." जिस समय राय ने भड़काऊ बयान दिया उस समय बिहार के उपमुख्यमंत्री उनके साथ स्टेज पर थे.

हालांकि सोमवार को अपने इस बयान पर मीडिया के सामने सफाई देते हुए राय ने कहा, "मैंने उंगलियों को तोड़ने और हाथों काट देने की बात कहावत के तौर पर कही थी. मेरे बयान का मतलब ये है कि हमें उन लोगों से निपटना है, जो देश के गर्व और सुरक्षा के खिलाफ हैं." राय ने कहा कि उनके इस बयान का मतलब किसी खास शख्स या विपक्षी पार्टी के लिए नहीं था.

भाजपा का यादवों पर है फोकस

गौरतलब है कि नित्यानंद राय यादव समुदाय से आते हैं. पिछले साल 2016 में उन्हें बिहार का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था. हाजीपुर से एमएलए रहे राय को भाजपा  ने 2014 के लोकसभा चुनावों में उजियारपुर से टिकट दिया था. उनके इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने कहा कि भाजपा गर्व की बात कैसे कर सकती है, वह तो उसके पास है ही नहीं.

First published: 21 November 2017, 12:13 IST
 
अगली कहानी