Home » बिहार » RLSP chief Upendra Kushwaha meets Sharad Yadav
 

NDA को बिहार में लग सकता है बड़ा झटका, शरद यादव की शरण में पहुंचे कुशवाहा

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 November 2018, 11:37 IST
(INDIAN EXPRESS)

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाह ने सोमवार को नई दिल्ली में में लोकतान्त्रिक जनता दल के संस्थापक शरद यादव से मुलाकात की. इस मुलाकात को एनडीए के लिए बड़े झटके के रूप में देखा जा रहा है. 2016 में नीतीश कुमार के एनडीए वापस लौटने के बाद शरद यादव ने जेडीयू छोड़ने के बाद एलजेडी का गठन किया था.

कुशवाह ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विधायकों को पछाड़ने की कोशिश कर रहे हैं. कुशवाहा ने कहा 'वो मुझे और मेरी पार्टी को तोड़ने में लगे हैं. मगर वो कुछ भी कर लें मेरा कुछ बिगाड़ नहीं सकते. वो एनडीए का हिस्सा हैं और हम भी गठबंधन के घटक हैं. उन्हें अपने ही गठबंधन की अन्य पार्टी में तोड़-फोड़ नहीं करना चाहिए'

 

जेडी (यू) और आरएलएसपी के बीच लड़ाई रविवार को बदतर हो गई, दो आरएलएसपी विधायकों ने जेडी (यू) में शामिल होने की पेशकश की. आरएलएसपी विधायकों सुधांशु शेखर और ललन पासवान ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर समेत शीर्ष जेडी (यू) नेताओं से मुलाकात की. इसके बाद कुशवाहा ने जेडी (यू) के प्रमुख नीतीश कुमार पर अपने विधायकों को पीड़ित करने का आरोप लगाया.

नवंबर 2015 में बिहार में हुए विधानसभा चुनाव में आरएलएसपी ने 23 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसमे से उसे महज 2 सीटों पर जीत मिली थी. अगर आरएलपी के दोनों विधायक (ललन पासवान और सुधांशु रंजन) नीतीश के खेमे में जाते हैं तो पार्टी की सीटों की सख्या शून्य हो जाएगी.

बीजेपी ने 201 9 के चुनाव के लिए आरएलएसपी को दो लोकसभा सीटों की पेशकश की, लेकिन कुशवाह चार सीटों से कम के लिए तैयार नहीं है. 2014 के लोकसभा चुनावों में एनडीए ने बिहार में 40 सीटों में से 31 सीटें जीतीं.

First published: 12 November 2018, 11:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी