Home » मूवी रिव्यु » 102 Not Out Movie Review: Amitabh Bachchan and Rishi Kapoor blast together on silver screen after 27 years
 

102 Not Out Review: जो थोड़े पागल होते हैं वो कमाल करते हैं

विकाश गौड़ | Updated on: 4 May 2018, 11:27 IST

फ‍िल्‍म: 102 नॉट आउट
डायरेक्‍टर: उमेश शुक्‍ला
स्टारकास्‍ट: अम‍िताभ बच्‍चन, ऋष‍ि कपूर और जिमित त्रिवेदी
रेट‍िंग: 3.5 स्टार

शतक की अपनी अहमियत होती होती है फिर चाहे वह क्रिकेट के मैदान में हो फिर किसी की उम्र का पड़ाव. जी हां अमिताभ बच्चन 102 साल के हो गए हैं. 102 साल के बाद भी नॉट आउट. फिल्म 102 नॉट आउट में भी यही दिखाया गया है. हालांकि बाद में अमिताभ दुनिया के सबसे ऊंचे पोस्ट ऑफिस पर पहुंच जाते हैं.

सवाल ये भी है कि जब कोई उम्र की सेंचुरी लगा दे वह अपने पके बाल, नकली दांत और कमजोर शरीर से ज्यादा क्या सोचेगा. लेकिन आपकी इसी सोच को बदलने के लिए उमेश शुक्ला लेकर आए हैं 102 Not Out. बता दें कि इससे पहले फ‍िल्‍म के डायरेक्टर ने 'ओह माय गॉड', 'आल इज वेल', 'फुल एंड फाइनल' जैसी फिल्में बनाई हैं जो दर्शकों को पसंद आई हैं.

फ‍िल्‍म 102 नॉट आउट में जहां अम‍िताभ 102 साल के एक बुजुर्ग पिता के रूप में हैं तो वहीं ऋषि कपूर उनके बेटे हैं जिनकी उम्र 75 साल है. इस उम्र में भी अमिताभ ज‍िंदगी जीने को ललचाते हैं लेकिन ऋषि कपूर अपने बुढ़ापे को स्वीकार कर लेते हैं.

102 नॉट आउट एक परिवारिक ड्रामा है, जो पूरी तरह आपका मनोरंजन करने आई है. इस फ‍िल्‍म में उस तरह की कॉमेडी है, जो र‍िश्‍तों की अहम‍ियत और भावनाएं को दर्शती है. फिल्म को बाप बेटे के साथ मां बेटी के साथ देख सकती है. सभी को फिल्म पसंद आने वाली है.

 

फिल्म की कहानी

फिल्म 102 Not Out की कहानी 102 साल के प‍िता दत्तात्रेय वखारिया यानी अमिताभ बच्चन और 75 साल के बेटे बाबूलाल वखारिया यानी ऋषि कपूर के बीच के एक अनकहे रिश्ते की है. लेकिन दत्तात्रेय और बाबूलाल में बहुत अंतर है क्योंकि बाबूलाल ने मान ल‍िया होता है क‍ि वो बूढ़ा हो गया है और उसकी जिंदगी में अब मौज मस्‍ती के लिए कोई जगह नहीं है. उधर बाबूलाल के 102 साल के पिता का फ्रीज भी चॉकलेट और तमाम तरह के खान पान से भरा रहता है और उनकी जिंदगी रंगीन होती है.

65th राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार: अवार्ड लेने से किया इनकार तो हटा दी गईं नेम प्लेट

102 नॉट आउट में बाबूलाल का एक बेटा भी है, जो एनआरआई है. बाबूलाल 17 साल से अपने बेटे से नहीं म‍िले हैं. बेटे ने शादी कर ली है और उसके दो बच्चे हैं. बेटा हर साल मिलने का वादा करता है और काम का बहाना देकर कहता है 'आई होप यू अंडरस्टेंड'. लेकिन दत्‍तात्रेय यानी अम‍िताभ बेटे बाबूलाल की नीरस ज‍िंदगी में रंग भरना चाहते हैं. इस बीच बेटा ना नुकुर करता है लेकिन बाद में अमिताभ उनके सामने शर्त रख देते हैं.

कहते हैं कि अगर तू मेरी शर्त मानता जाएगा तो तुझे मेरे साथ रहने की आजादी है अगर शर्त नहीं मानेगा तो तुझे वृद्धाश्रम भेज दूंगा. अब देखना ये है कि दत्तात्रेय बेटे बाबूलाल की ज‍िंदगी में क‍ितना रोमांच भर पाते हैं. लेकिन हां इसके ल‍िए आपको फ‍िल्‍म देखने के लिए सिनेमाघर जाना पड़ेगा.

 

फिल्म के स्क्रीनप्ले से लेकर स्क्रिप्ट सभी चीजों पर बारीकी से ध्यान दिया गया है. यहां तक फिल्म में डायलॉग भी धांसू हैं जो आपको याद रहने वाले हैं. इसके अलावा इस फिल्म में उमेश शुक्ला ने कुछ वन लाइनर भी डाले हैं जो शानदार तरीके से लिखे गए हैं तो उसी जानदारी के साथ उन्हें बोला भी गया है.

ये भी पढ़ेंः कास्टिंग काउच पर कृष्णा ने दिया बेतुका बयान, लड़कियां खुद कांड करती हैं और फिर आरोप लगाती हैं

अमिताभ ने बाप बेटे के रिश्ते का जिक्र करते हुए कहा है, 'औलाद अगर नालायक निकल आए तो उन्हें भूल जाना चाहिए केवल उनका बचपन याद रखना चाहिए.' एक दूसरे डायलॉग में अमिताभ कहते हैं, 'जब तक मौत नहीं आती तब तक मरना मत' बाकी 'आई होप यू अंडरस्टेंड' इस फिल्म की जान है जो आमतौर पर इन दिनों देखा जाता है.

फिल्म के म्यूजिक और बैकग्राउंड स्कोर की बात करें तो सभी गाने और म्यूजिक में एक क्लास है. इसमें एक गाना है जिसे फेमस प्लेबैक सिंगर अरिजीत सिंह ने गाया है. इस गाने का नाम है 'बच्चे की जान लोगो क्या'. दावा है कि जब भी फिल्म देखकर थियेटर से निकलेंगे तो आप ये गाना गुनागुनाते आएंगे.

क्यों देखें फिल्म

102 Not Out की दमदार स्टोरी को जानने के लिए फिल्म देख सकते हैं.
अमिताभ बच्चन के फैन हैं तो फिल्म देखने बनती हैं.
अगर ऋषि कपूर के फैन हैं तो भी फिल्म देखने के लिए आपको थियेटर जाना चाहिए.
अमिताभ-ऋषि कपूर की जोड़ी को 27 साल बाद परदे पर एक साथ देखना है तो भी फिल्म देखनी बनती है.

First published: 4 May 2018, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी