Home » मूवी रिव्यु » Kahaani 2 film review vidya balan Arjun Rampal starrer Kahaani 2
 

मूवी रिव्यू: विद्या के दमदार अभिनय आैर सस्पेंस की फुल डोज़ है कहानी-2

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 December 2016, 12:43 IST

समय: 1 घंटा 59 मिनट 

कलाकार:  विद्या बालन, अर्जुन रामपाल,  जुगल हंसराज,  अंबा सान्याल

'कहानी 2' भले ही सुजय घोष की 'कहानी' का सीक्वल हो लेकिन दोनों फिल्मों में विद्या बालन को छोड़कर सब नया है. विद्या बालन और अर्जुन रामपाल स्टारर इस फिल्म की कहानी और किरदार दोनों बिल्कुल अलग हैं.

कहानी: 

इस बार भी थ्रिलर फिल्म में दिल्ली-मुंबई, कोलकाता को एक बार फिर से दोहराया गया है. इस फिल्म में दर्शकों को विद्या की जबर्दस्त एक्टिंग देखने को मिलेगी. आपको बता दें कि कहानी 2 का फर्स्ट हाफ बेहद दमदार है. इसमें एक महिला के दर्द भरे अतीत को दिखाया गया है, जब उसकी मुलाकात एक अंजान लड़की से होती है. जिसके साथ उसका रिश्ता बेहद मजबूत बन जाता है. 

इसके बाद क्या होता है वो दुर्गा रानी हमेशा चुप रहने वाली मिनी के करीब जाने की कोशिश करती है और जिसकी वजह से वो खुद को खतरनाक परिस्थिती में ढकेल देती है. बच्ची के खुशामदी अंकल (जुगल हंसराज) और चापलूस दादी (अंबा सान्याल) के साथ दुर्गा उलझ जाती है. यहां तक की कहानी हर किसी को बांधे रखती है. इसके बाद दुर्गा के दर्द को दिखाया गया है जो खुद एक रोमांटिक रिश्ते को बनाए रखने के लिए जूझती हुई दिखती है. जब वो खुद बच्ची थी तब उसे भी इस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा था. एडल्ट एब्यूज किसी भयानक हॉरर से कम नहीं है. 

इंटरवल के बाद ऐसा लगता है कि फिल्म की कहानी बदल गई है. इसमें अपहरण और हत्या से लेकर एक तेज पुलिस ऑफिसर को दिखाया गया है जो इस केस को सुलझाने की कोशिश करता है. वहीं इस दौरान दुर्गा नाम और शहर बदलती रहती है. अब बाकी है कहानी का अंत जो देखाकर आप ही तय कर सकते हैं कि दुर्गा है कौन?

अभिनय: 

अभिनय के मामले में विद्या बालन 'कहानी 2' की मजबूत नींव हैं. हर एक सीन उन्होंने बखूबी निभाया है और कुछ जगहों पर वो यकीन दिला देती हैं कि वो अदाकारा नहीं बल्कि दुर्गा रानी सिंह हैं. अर्जुन रामपाल ने भी बेहद नेचुरल काम किया है और विद्या को अच्छा सपोर्ट दिया है. जुगल हंसराज और बाकी सभी कलाकार अपने किरदारों में फिट रहे हैं.

First published: 2 December 2016, 12:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी