Home » मूवी रिव्यु » Love Sonia Movie Review in Hindi: Mrunal Thakur Freida Pinto Manoj Bajpayee Richa Chadha Rajkummar Rao film Love Sonia hard hitting
 

Love Sonia Review: सेक्स वर्कर्स की कहानी है 'लव सोनिया', ऐसी लड़कियां जो शहरों में पैदा नहीं होतीं...

विकाश गौड़ | Updated on: 12 September 2018, 11:21 IST

फिल्म: लव सोनिया
डायरेक्टरः तबरेज़ नूरानी
स्टारकास्ट: राजकुमार राव, मनोज बाजपेयी, मृणाल ठाकुर, रिया सिसोदिया, फ्रीडा पिंटो, ऋचा चड्ढा और अनुपम खेर
रेटिंगः 3.5 स्टार

हर दिन 270 लड़कियां, जिनमें कुछ महिलाएं भी होती हैं वो देश से गायब हो जाती हैं. देश से गायब होकर ये लड़कियां और महिलाएं कहां जाती हैं इसका एक सबसे बड़ा उदाहरण है देह व्यापार. इस व्यापार में या तो ये लड़कियां अपनी मर्जी से आती हैं या फिर परिस्थितिवश. 

ऐेसी स्थिति वाली लड़कियां और महिलाएं बहुत कम होती हैं क्योंकि इस देह व्यापार में लड़कियां अपनी जबरदस्ती लाई जाती हैं. इसके लिए कई लोग सौदेबाजी करते हैं तो कई लोग इसके लिए लड़कियों को अगवा करते हैं. ऐसा ही कुछ फिल्म 'लव सोनिया' में दिखाया गया है.

तबरेज़ नूरानी की डेब्यू डायरेक्शन फिल्म 'लव सोनिया' आपको शुक्रवार 14 सितंबर को सिनेमाघरों में देखने को मिलेगी. इस फिल्म के साथ शर्त ये है कि इसको केवल एडल्ट लोग ही देख पाएंगे. दरअसल, सेंसर बोर्ड ने इसे A सर्टिफिकेट दिया है, इस वजह से ये फिल्म केवल 18 साल या इससे ज्यादा के लोगों के लिए है.

सच्चे घटनाओं पर आधारित फिल्म 'लव सोनिया' में कई किरदारों से सजी है. इसमें राजकुमार राव से लेकर मनोज बाजपेयी और ऋचा चड्ढा जैसे कलाकार शामिल हैं. बताया जा रहा है कि इस फिल्म को बनाने के लिए तबरेज़ नूरानी और उनकी टीम को 7 से 8 साल का समय लगा है.

पिछले 2 सालों में फिल्म 'लव सोनिया' को कई नेशनल और इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में दिखाया जा चुका है, जहां इसे काफी सराहना मिली है. यहां तक कि इसके फिल्म के ट्रेलर को भी काफी पसंद किया गया था. अब आइए जानते हैं कैसी है फिल्म 'लव सोनिया'. पढ़िए 'लव सोनिया' का रिव्यु..

फिल्म 'लव सोनिया' की कहानी

फिल्म 'लव सोनिया' की कहानी महाराष्ट्र के एक गांव की दिखाई गई है, जहां पर सोनिया यानी मृणाल ठाकुर और उसकी बहन प्रीति यानी रिया सिसोदिया अपने मां-बाप के साथ रहती है. खेती किसानी से कर्ज में डूबे सोनिया के पिता(आदिल हुसैन) उसकी बहन प्रीति का सौदा ह्यूमन ट्रैफिकिंग के जरिए कर देते हैं. इसमें दादा ठाकुर यानी अनुपम खेर को एक बड़ा जमींदार दिखाया गया है.

बहन प्रीति की वजह से सोनिया परेशान हो जाती है. सोनिया अपनी बहन से मिलने के लिए अनुपम खेर से मिलती है, जो उसे प्रीति के पास तो भेज देते हैं लेकिन उसकी जिंदगी बहुत बाहियात किस्म की हो जाती है. इसके बाद फिल्म 'लव सोनिया' में तरह-तरह के किरदार सामने आते हैं.

सोनिया एक ऐसे चंगुल में फंस जाती है जहां से निकलना आसान है लेकिन बाहर आकर बिना सिर झुकाए जीना मुश्किल. दरअसल, सोनिया को देह व्यापार में डाल दिया जाता है, जहां फैजल खान यानी मनोज बाजपेयी उसका सौदा कर देता है. पहले इंडिया में और फिर देश के बाहर सोनिया के जिस्म को नोंचा जाता है.

फिल्म में रश्मि (फ्रीडा पिंटो), सलमा (डेमी मूर), माधुरी(रिचा चड्ढा), अंजलि (सई ताम्हणकर), शिवा (आदिल हुसैन), बलदेव सिंह (अनुपम खेर), मनीष (राजकुमार राव), फैजल (मनोज बाजपेयी) जैसे कलाकारों से सजी इस फिल्म में बहुत सारे उतार-चढ़ाव हैं.

देह व्यापार के बहुत बड़े सरगना यानी फैजल खान के हाथ लगी सोनिया खुद और अपनी बहन प्रीति को इस घिनौनी दुनिया से निकाल पाएगी. क्या फिल्म के आखिर में सोनिया अपनी बहन से मिल पाएगी? क्या सोनिया को अपने बचपन का प्यार मिलेगा? क्या मां-बाप अपने किए कराए पर शर्मिंदा होंगे इसके लिए फिल्म देखनी पड़ेगी.

फिल्म 'लव सोनिया' को देखने का मन है तो बेझिझक जाइए क्योंकि ये फिल्म उस तरह की जो आज की कहानी बयां करती है. फिल्म सच्ची घटनाओं से प्रेरित है. लिखावट के साथ-साथ फिल्म का डायरेक्शन भी जबरदस्त तरीके से किया गया है. इसके अलावा कहानी सुनाने का ढंग लाजबाव है.

कई जगह फिल्म 'लव सोनिया' के संवाद आपको झकझोर भी देंगे. 'लव सोनिया' में देह व्यापार में लिप्त होने की वजह और इससे कैसे निपटा जा सकता है इसका एक बड़ा उदाहरण पेश किया गया है. मराठी फिल्मों में नजर आईं मृणाल ठाकुर ने टाइटल रोल को बखूबी निभाया है.

रिया सिसोदिया ने प्रीति के रोल को बहुत ही बढ़िया तरह से बड़े पर्दे पर उतारा है, जबकि रिचा चड्ढा, फ्रीडा पिंटो, सई ताम्हणकर, राजकुमार राव, मनोज बाजपेयी, अनुपम खेर, आदिल हुसैन और डेमी मूर जैसे कलाकारों ने अपने किरदारों को जीया है.

First published: 12 September 2018, 11:12 IST
 
अगली कहानी