Home » मूवी रिव्यु » Review of Reviews know Reactions For Salman Khan's 'Tubelight
 

Review of Reviews: जल गर्इ सलमान ख़ान की ट्यूबलाइट, जानें कैसी रही फिल्म

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2017, 8:32 IST

सलमान की ट्यूबलाइट पूरी तरह से सलमान खान की फिल्म है जहां दर्शक और उनके चाहने वाले हीरो के एक नए अभिनय अंदाज से रूबरू होंगे लेकिन ये फिल्म एक अनुभव इसलिये नहीं बन पायेगी क्योंकि फिल्म सिर्फ सलमान के इर्द-गिर्द ही घूमती है. 

फिल्म की कहानी:
पृष्ठभूमि साल 1962 के भारत-चीन युद्ध की है. एक पहाड़ी इलाके के छोटे से कस्बे में दो भाई - लक्ष्मण सिंह बिष्ट और भरत सिंह बिष्ट साथ रहते हैं. जिनका एक दूसरे के लिये प्यार कूट-कूट कर भरा है. दोनों ही भारतीय सेना के कुमाऊं रेजीमेंट में काम करना चाहते हैं. भरत यानि सोहेल खान की नैया तो पार हो जाती है लेकिन लक्ष्मण को उसकी मंदबुद्धि की वजह से मौका नहीं मिल पाता. भरत अपनी रेजीमेंट के बॉस के सामने हाथ पैर जोड़कर कैसे भी लक्ष्मण को सेना का हिस्सा बना लेता है. जब चीन से युद्ध का ऐलान होता है तब मोर्चे पर भरत का जाना पड़ता है. लड़ाई में चीन की सेना उसे युद्धबंदी बना लेती है. उसके बाद यही कहानी है कि कैसे लक्ष्मण खुद पर यकीन करके भरत को अपने पास ले आता है?

Firstpost:
नतीजा ये है कि एक फील गुड फिल्म बनाने के चक्कर में कबीर से कई चीजें छूट गईं. सलमान खान की अपनी हर फिल्म में कुछ नया कर दिखाने की कोशिश बेहद ही सराहनीय है लेकिन जनता उनसे एक अच्छी कहानी की भी उम्मीद रखती है.

Aajtak:
सलमान खान पहली बार एक माचोमैन के अवतार से हटकर बैकफुट पर खेलते नजर आए हैं और उनका यह अवतार आपने शायद ही पहले देखा होगा या कह सकते हैं कि पहली बार फ्रेश अवतार में दिखाई देते हैं. फिल्म की कहानी तो पहले ही ट्रेलर में बताई जा चुकी है लेकिन उसके फिल्मांकन का तरीका कबीर ने अलग तरह से पेश करने की कोशिश की है जिसमें ज्यादातर आपको इमोशनल माहौल ही मिलता है. फिल्म के इंटरवल से पहले और इंटरवल के बाद कहानी अलग-अलग दिशाओं में जाती रहती है जहां एक तरफ सलमान की सोच इंटरवल से पहले एक मासूम से छोटे बच्चे की तरह होती है जिसकी वजह से उन्हें ट्यूबलाइट कहा जाता है वही कहानी के दूसरे हिस्से में उस सोच में बदलाव आता है.

फिल्म में सलमान खान ने बहुत ही बढ़िया काम किया है, वही स्वर्गीय अभिनेता ओमपुरी का काम भी काबिले तारीफ है. बाल कलाकार मतीन रे तंगू ने बढ़िया काम किया है जो आप को समय-समय पर हंसाते भी हैं. सोहेल खान और चाइनीज अभिनेत्री जूजू ने भी सहज अभिनय किया है. शाहरुख खान का छोटा लेकिन काफी इंपॉर्टेंट रोल है.

First published: 23 June 2017, 8:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी