Home » मूवी रिव्यु » Review of Reviews sarkar 3 movie review Ram Gopal Varma Wasted A Big Star Cast
 

Review of Reviews 'सरकार 3': कमज़ोर कहानी के चलते नहीं चला सितारों का जादू

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 May 2017, 14:26 IST

साल 2005 में निर्माता निर्देशक रामगोपाल वर्मा ने फेमस हॉलीवुड फिल्म 'गॉडफादर' से प्रेरित होकर हिंदी फिल्म 'सरकार' बनाई थी, जिसे काफी सराहा गया. इसके बाद रामगोपाल वर्मा ने 2008 में 'सरकार राज' बनाई, जिसने बॉक्स ऑफिस पर अच्छा बिजनेस किया. अब तकरीबन 9 साल बाद रामू ने इसी सीरीज की तीसरी फिल्म 'सरकार 3' बनाई है. जानें कैसा है इसका रिव्यू.

आज तक: सितारों की भीड़ में कहानी कहीं गुम हो गई

फिल्म की कहानी काफी प्रेडिक्टेबल सी है, जिस पर और भी ज्यादा काम किया जा सकता था. वहीं बहुत सारे सीन्स काफी ड्रैग किए हुए लगते हैं, जिन्हें छोटा करके फिल्म को और क्रिस्प बनाया जा सकता था. फिल्म का स्क्रीनप्ले बेहद कमजोर है, जिसकी वजह से कोई भी किरदार सम्पूर्ण नहीं हो पाया है, और कुछ ना कुछ कमी हरेक सीन में है. सीन्स और बेहतर हो सकते थे. फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर काफी लाउड है, जिसकी वजह से एक वक्त के बाद काफी शोर-शराबा जैसा लगने लगता है. फिल्म के किरदार एक दूसरे को कॉम्प्लिमेंट करते हुए नजर नहीं आते हैं, जिसकी वजह से जबरदस्त संवाद भी काफी फीके-फीके से जान पड़ते हैं. एक बार फिर से रामगोपाल वर्मा अपने अलग-अलग एंगेल्स से शॉट लेते हुए नजर आए हैं और कैमरा कहीं भी और कभी भी दिखाई पड़ता है, जो कि काफी डिस्टर्बिंग है.

फर्स्टपोस्ट: अकेले राम गोपाल वर्मा ले डूबे सबको

राम गोपाल वर्मा के गैर संजीदा ट्वीट्स ने उनके बारे में लोगों के बीच एक सस्ती सी राय बना दी है. उनके निर्देशन में बनी 'सरकार 3' देखने के बाद रामगोपाल वर्मा की निजी शख्सियत को समझने में थोड़ी और आसानी होगी. कहानी की बात करें तो ये इसका सबसे कमजोर पहलू है. रहस्य-रोमांच से भरी इस कहानी में किरदारों का मसखरापन फिल्म की संजीदगी को कम कर देता है. कहानी के नाम पर फिल्म में जो कुछ है वो ये है कि सरकार का पोता शिवाजी नागरे वापसी करता है और सरकार के काम करने के स्टाइल पर पैनी नजर रखता है

Times of India रिव्यू :

हम इस फ्रैंचाइज़ी के लीड किरदार और उससे जुड़ी चीजों से पिछले 12 साल से जुड़े हैं, जिससे इस फिल्म को देखते हुए आपको सब देखा हुआ सा लगेगा. साथ ही यह शुरुआत से लेकर अब तक सरकार की मौजूदगी का महत्व भी दर्शकों को बताता है.

इस फ्रैंचाइजी की बाकी फिल्मों की ही तरह इस फिल्म में भी लाइट और शैडो का बेहतरीन इस्तेमाल किया गया है, जो फिल्म का ट्रेडमार्क है. साथ ही गोविंदा-गोविंदा वाला बैकग्राउंड स्कोर, इस फिल्म में शानदार है. बच्चन द्वारा गाई गणेश आरती आपको मंत्रमुग्ध करने वाली है. इसके अलावा अमिताभ की एक्टिंग और अंदाज़ भी आपको अभिभूत करने के लिए काफी हैं. उनके फैन्स के लिए इसे एक शानदार तोहफा कह सकते हैं. अमित मनोज, जैकी और रॉनित ने काफी शानदार अभिनय का परिचय दिया है, तो वहीं अभिनेत्रियां यामी, सुप्रिया और रोहिनी का रोल बेहद छोटा है और वह कुछ समय के लिए ही पर्दे पर नज़र आती हैं.

First published: 12 May 2017, 14:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी