Home » मूवी रिव्यु » Sanju Movie Review in Hindi: Ranbir Kapoor Starer film sanju based on Sanjay Dutt's drugs innocent terrorist phase
 

Sanju Movie Review : बैड चॉइस में गुड स्टोरी है रणबीर कपूर की 'संजू'

विकाश गौड़ | Updated on: 29 June 2018, 15:11 IST

फिल्म- संजू
डायरेक्टर- राजकुमार हिरानी
स्टारकास्ट- रणबीर कपूर, सोनम कपूर, परेश रावल, अनुष्का शर्मा, विकी कौशल और करिश्मा तन्ना.
रेटिंग- 4 स्टार

तमाम अखबार और मीडिया हाउस सूत्रों के मुताबिक कुछ भी लिख देते हैं न तो वो उन तथ्यों को क्रॉस चेक करते हैं और नहीं उसके इम्पैक्ट के बारे में सोचते हैं. ऐसे ही फेज से गुजरे हैं संजय दत्त. वो संजय दत्त जिनको आंतकवादी कहा जाने लगा था क्योंकि उनके पास एके 56 राइफल मिली थी, जब 1983 में मुंबई दंगे हुए.

संजय दत्त के मुताबिक, उन्होंने ये राइफल अपने पिता सुनील दत्त, बहन प्रिया और नम्रता की सुरक्षा के लिए रखी थी. इसी बीच किसी ने अफवाह फैला दी कि उनके घर पर आरडीएक्स से भरा ट्रक मिला है, चूंकि खबर की हैडलाइन में ? मार्क था तो सुनील दत्त और संजय दत्त प्रेस वालों के खिलाफ कुछ बोल भी नहीं सकते थे.

इन्हीं परिस्थियों से जूझते हुए संजय दत्त को दिखाया है जीनियस फिल्म मेकर राजकुमार हिरानी ने. वैसे भी राजकुमार जिस चीज को हाथ लगा देते हैं उसे सोना बना देते हैं. उनकी अगर जबरदस्त हिट फिल्मों की बात करें पीके, थ्री ईडियट और मुन्नाभाई एमबीबीएस जैसी फिल्में बना चुके हैं और संजय दत्त का करियर भी संवार चुके हैं.

लेकिन इस बार वो संजय दत्त की उस जिदंगी को परदे पर लेकर आए हैं जो शायद की कोई जानता हो. इसमें कई बातें शामिल हैं जिनसे लोग कभी रूबरू नहीं हुए होंगे. ये किसी और ने नहीं बल्कि खुद संजय दत्त ने कबूला है. फिल्म की कई बातें हैरान करने वाली भी हैं. जैसे कि संजय दत्त की 308 गर्लफ्रेंड्स थीं, जिनके साथ उन्होंने राज गुजारी.

राजकुमार हिरानी द्वारा डायरेक्ट और रणबीर कपूर स्टारर फिल्म 'संजू' आज सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है. जैसा कि सोचा जा रहा था कि हिरानी 'संजू' के हर एक फेज को दिखाएंगे तो ऐसा फिल्म में बिल्कुल नहीं है. हिरानी ने मोटा-मोटा संजय दत्त के ड्रग्स और फिर आंतकवादी (जो कि नहीं है क्योंकि उन पर आर्म्स एक्ट लगा था और TADA से वह बरी हो गए थे) वाले फेज को दिखाने की कोशिश की है.

फिल्म 'संजू' की कहानी

'संजू' को 6 साल की जेल होने वाली है क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें आर्म्स एक्ट में दोषी पाया है. सुप्रीम कोर्ट उनको TADA Terrorist and Disruptive Activities (Prevention) Act में बरी कर दिया जाता है लेकिन लोग फिर भी आतंकवादी समझते हैं. इसी कलंक को अपने बच्चों पर नहीं आना देना चाहते, इसलिए वह आत्महत्या करना चाहते हैं लेकिन पत्नी मान्यता(दिया मिर्जा) रोक देती हैं.

इसके बाद मान्यता 'संजू' को देती हैं एक किताब लिखने का सलाह लेकिन संजू कहते हैं कि 4 लाइन का सुसाइड नोट नहीं लिखा जाता 400 पन्नों की किताब क्या लिखूंगा. इस दौरान वह पत्नी के सलाह के बाद मिलतेे हैं बिन्नी नियाज यानी अनुष्का शर्मा से जो ऑटोबायोग्राफर हैं. बिन्नी थोड़ी बहुत रिसर्च करती हैं तो उनको एक बंदा मिलता है जो उनकी बायो लिखने के लिए मना करता है.

 

लेकिन बिन्नी संजू से सच्चाई जानने के लिए उनके घर पहुंचती हैं तो संजू साफ बता देते हैं वो 350 लड़कियों के साथ सोए हैं. इसके बाद कहानी शुरु होती है और ड्रग्स से लेकर उन पर लगे आतंकवादी के ठप्पे पर जा पहुंचती हैं. ऐसे में संजू का बेस्ट फ्रेंड भी उनसे नफरत करने लगता है. यहां तक कि वह बिन्नी जो ऑटोबायोग्राफर है उससे भी बात नहीं करता लेकिन बाद में सच्चाई पता लगती है.

इतना सब क्लियर होने के बाद भी कुछ शंकाओं की वजह से बिन्नी किताब नहीं लिखतीं और संजू का एक महीने का समय खत्म हो जाता है. इस दौरान हिरानी ने कंटेंट न होने की वजह से कॉमेडी डालने के लिए बुमन ईरानी को रूबी यानी सोनम कपूर का पिता बना देते हैं, जो एक लव स्टोरी है और इस दौरान जो कॉमेडी है वो मजेदार है. खैर ये लव स्टोरी ड्रग्स की वजह से चल नहीं पाती.

संजय को समय-समय पर समझाने के लिए सुनील दत्त ने अपनी तीन उस्तादों के बारे में बताया है. ये उस्ताद कोई और नहीं बल्कि फिल्म इंडस्ट्री के तीन दिग्गज हैं, जिन्होंने फिल्मों में गाने लिखे हैं. इसी गाने के एक बोल पर बिन्नी किताब लिखती हैं और जब वह जेल से रिहा होते हैं तो बिन्नी उस किताब को उन्हें भेंट करती हैं. हालांकि, संजू अपने पिता से कभी थैंक्यू नहीं बोल पाते. 

 

बाद में जब सुनील दत्त बेटे संजय दत्त के लिए लड़ाई लड़ रहे होते हैं तो वो अकेला पड़ जाते हैं. बाद में वह उसके दोस्त कन्हैया लाल कापसी (कमली) यानी विकी कौशल को बुलाते हैं. एक साल और कुछ महीने जेल में रहने के बाद संजू को बेल मिल जाती है लेकिन फिर से वह आर्म्स एक्ट में जेल चले जाते हैं. इससे पहले उनके पिता की मौत हो जाती है.

फिल्म संजू में पिता पुत्र के अलावा दो दोस्त और एक एके56 की कहानी दिखाई है. लेकिन इन सबके बीच परेशानी है न्यूजपेपर्स और मीडिया हाउस क्योंकि वो सूत्रों के मुताबिक चलते हैं. संजू में जिस तरह से संजय दत्त के जीवन को हिरानी प्रदर्शित किया वो देखने के लायक हैं. हालांकि फिल्म को करीब पौने तीन घंटे में समेटा गया है. इसमें चार गाने भी हैं जो लोगों को बांधे रखेंगे.

इस फिल्म की कमजोर कड़ियों की बात करें तो फिल्म के म्यूजिक में उतना दम नहीं दिखता, हालांकि फिल्म के गाने पहले ही धूम मचा चुके हैं. दूसरी सबसे कड़ी ये कि रणबीर जिस तरह फिल्म के ट्रेलर में संजय दत्त लग रहे थे वैसे पूरी फिल्म में नहीं दिखे. तीसरी सबसे कमजोर कड़ी की अगर बात की जाए तो संजू को लाइफ के केवल दो बुरे फेज को दिखाया गया है.

First published: 29 June 2018, 15:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी