Home » मूवी रिव्यु » Yamla Pagla Deewana Phir Se Movie Review in Hindi: Dharmendra Sunny Deol Bobby Deol film is full of time pass read interesting review
 

Yamla Pagla Deewana Phir Se Review: इस कहानी में इमोशन है, ड्रामा है, कॉमेडी है, ट्रेजडी है और..

विकाश गौड़ | Updated on: 31 August 2018, 17:20 IST

फिल्म: यमला पगला दीवाना फिर से
डायरेक्टर: नवनीत सिंह
स्टार कास्ट: धर्मेंद्र, सनी देओल, बॉबी देओल और कृति खरबंदा
रेटिंग: 2.5 स्टार

 साल 2011 में एक फिल्म आई 'यमला पगला दीवाना' जिसमें देओल परिवार साथ आया. इस फिल्म में धर्मेंद्र और उनके बेटों(सनी और बॉबी देओल) की हंसी ठिठोली थी, जो दर्शकों को पसंद आई. फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर भी अच्छा प्रदर्शन किया. इसी से खुश मेकर्स ने इसका दूसरा पार्ट साल 2013 में रिलीज कर दिया.

दो साल जब इसका दूसरा पार्ट 'यमला पगला दीवाना 2' रिलीज हुआ तो ये फिल्म दर्शकों को बांध नहीं पाई. यहां तक कि पहले जिस पार्ट को समीर कार्णिक ने डायरेक्ट किया था तो वहीं, दूसरे पार्ट में डायरेक्टर बदल गया. फिल्म 'यमला पगला दीवाना' के दूसरे पार्ट को संगीत सिवान ने डायरेक्ट किया.

5 साल के बाद इसी सिरीज की तीसरी फिल्म 'यमला पगला दीवाना फिर से' रिलीज की गई है. शुक्रवार 31 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज हुई ये फिल्म भी दर्शकों को खास प्रभावित नहीं करती दिख रही. खास बात ये है कि इस फिल्म का भी डायरेक्टर बदल गया है. फिल्म को इस बार नवनीत सिंह ने डायरेक्ट किया है. रिव्यु पढ़कर जानिए कैसी है फिल्म 'यमला पगला दीवाना फिर से'...

फिल्म 'यमला पगला दीवाना फिर से' की कहानी

फिल्म 'यमला पगला दीवाना फिर से' की कहानी पंजाब के अमृतसर से शुरू होती है. अमृतसर में एक वैद्य हैं पूरन सिंह यानी सनी देओल जो अपने भाई काला यानी बॉबी देओल और अपने दो बच्चों के साथ रहता है. यहीं एक मार्केट में वैद्य पूरन सिंह खजानची नामका दवाखाना चलाता है. पूरन सिंह के एक किराएदार हैं जयवंत परमार यानी धर्मेंद्र, जिन्हें सब जीते बुलाते हैं. परमार साहब पेशे से वकील और इरादों से मनचले किस्म के आदमी हैं.

पूरन सिंह यानी सनी देओल के पास वज्र कवच नामक एक आयुर्वेदिक दवा बनाने का फार्मूला है. पूरन सिंह को ये पास ये फॉर्मूला उनके पूर्वजों द्वारा की गई खोज से आया है. पूरन सिंह के वज्र कवच के इस फार्मूले के पीछे फेमस बिजनेसमैन मारफतिया लग जाता है, जो कि फार्मासिटिकल कंपनी का मालिक भी है. मारफतिया इस फॉर्मूले को हथियाना चाहता है. लेकिन कैसे ये फिल्म में पता चलेगा.

देखने में मजेदार लग रही इस कहानी में चीकू यानी कृति खरबंदा की एंट्री होती है जो कि एक सर्जन है. सिलसिलेवार घटनाओं में उसकी मुलाकात पूरन सिंह और काला से होती है. कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब बिजनेसमैन मारफतिया अपनी तरफ से पूरन सिंह के ऊपर दवा का फॉर्मूला चोरी करने का केस करता है और कहानी पंजाब से गुजरात में पहुंच जाती है. अंततः क्या होगा इसके लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी.

इस फिल्म में शत्रुघन सिन्हा, सतीश कौशिक और असरानी जैसे कलाकार किस तरह के रोल में हैं. ये अपने आप में फिल्म को देखने की दिलचस्पी जगाते हैं. इसके अलावा इस फिल्म में बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान, रेखा और सोनाक्षी सिन्हा की भी स्पेशल अपीरियंस है. फिल्म 'यमला पगला दीवाना फिर से' की मुश्किलें इस बात से भी बढ़ रही हैं क्योंकि आज राजकुमार राव और श्रद्धा कपूर की फिल्म 'स्त्री' भी रिलीज हुई है.

फिल्म के डायरेक्शन और स्क्रीनप्ले की बात करें तो इस बार थोड़ा ठीक गया है क्योंकि इस सिरीज की पिछली दो फिल्में डायरेक्शन के मामले में उतनी अच्छी नहीं गईं. हालांकि, इस बार फिल्म 'यमला पगला दीवाना फिर से' का कंटेट दमदार है लेकिन बड़े पर्दे पर अपनी छाप छोड़ने में कमी कर सकता है.

वहीं, अगर फिल्म 'यमला पगला दीवाना फिर से' के डायलॉग्स की बात करें तो कुछ आज के टाइम के तो कुछ सोशल मीडिया से उठाए गए लगते हैं, जो कि आए दिन आपके पास फॉरवर्ड होकर आ जाते हैं. म्यूजिक पर तोड़ा ध्यान दिया गया है लेकिन अब तक रिलीज हुए इसके गाने कोई खास असर छोड़ नहीं पाए हैं.

First published: 31 August 2018, 17:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी