Home » बॉलीवुड » Anurag Kashyap says we can make film without fear of CBFC but I'm scared censorship's process  
 

अनुराग कश्यप बोले- फिल्म बनाने से डर नहीं लगता, सेंसर बोर्ड की 'कैची' से लगता है

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 August 2018, 11:33 IST

कुछ अलग तरह की और लीक से हटकर फिल्म बनाने वाले डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन यानी सेंसर बोर्ड पर करारा प्रहार किया है. सीबीएफसी को लेकर दिए गए बयान में अनुराग कश्यप ने कहा है कि उन्हें सेंसर बोर्ड से नहीं बल्कि उससे लड़ने की प्रक्रिया से डर लगता है.

आपको बता दें, अनुराग कश्यप जिस तरह के विषयों पर फिल्में बनाना पसंद करते हैं उनकी इन्हीं फिल्मों से अक्सर सेंसर बोर्ड की नाराजगी सामने आ जाती है. एकाध फिल्म को छोड़ दें तो अनुराग कश्यप की हर एक फिल्म सेंसर बोर्ड के निशाने पर आई है. यहां तक कि उनकी वेब सिरीज भी विवादों में रही हैं.

गौरतलब है कि हाल ही में नेटफिलिक्स पर रिलीज हुई उनकी वेब सिरीज 'सैक्रेड गेम्स' भी विवादों में आ गई थी. वेब सिरीज के कई सीन और डायलॉग्स से सेंसर बोर्ड को आपत्ति थी. फिलहाल, अनुराग कश्यप ने कहा, "भारत में राजनीतिक फिल्म बनाना असंभव नहीं है, लेकिन सिस्टम से लड़ने की प्रक्रिया कई फिल्ममेकर्स को डराती है." 

हालांकि, अनुराग कश्यप ने ये भी कहा, "इसका मतलब यह नहीं है कि यदि मैं पॉलिटिकल फिल्में बनाना चाहूंगा तो सेंसर बोर्ड के डर से नहीं बनाऊंगा. उन्होंने कहा कि आप कभी भी पहले ही स्टेज पर हार नहीं मान सकते. अगर मुझे फिल्म बनानी होगी तो बनाऊंगा और सेंसर बोर्ड अपना काम करेगा."

ये भी पढ़ेंः ऐश्वर्या और अभिषेक की अपकमिंग फिल्म 'गुलाब जामुन' में नजर आएंगे अमिताभ बच्चन !

वेब सिरीज 'सैक्रेड गेम्स' के डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने कहा, "आपको हार मानने के लिए कई स्टेजों से गुजरना पड़ता है. ये प्रक्रिया कार्यकारी समिति, संशोधन समिति और ट्रिब्यूनल से होते हुए सुप्रीम कोर्ट पर जाकर खत्म होती है. पॉलिटिकल फिल्म बनाने में कई तरह के विरोधों का भी सामना करना पड़ता है, जैसे सेंसरशिप कट, बैन, विरोध और किसी भी फिल्म डायरेक्टर के लिए इस पूरी प्रक्रिया से होकर गुजरना बेहद कठिन होता है." 

First published: 6 August 2018, 11:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी