Home » बॉलीवुड » babumoshai bandookbaaz censor board cbfc members hurl sexist slurs censor board humilate producer
 

सेंसर बाेर्ड का शर्मनाक बयान- महिला होकर कैसे बना सकती हो एेसी बोल्ड फ़िल्म?

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 August 2017, 13:35 IST

'बाबूमोशाय बंदूकबाज' फिल्म सर्टिफिकेशन को लेकर फिल्म सेंसर बोर्ड का चौंका देने वाला रवैया सामने आया है. फिल्म के ट्रेलर में दिखाए गए बोल्ड सीन्स के चलते पहले से ही फिल्म चर्चा में थी.

इस बात का भी इल्म था ही कि फिल्म के लव मेकिंग सीन्स पर सेंसर बोर्ड की कैंची चलेगी ही. लेकिन सेंसर बोर्ड ने फिल्म को लेकर कुछ ऐसा कहा जिस पर यकीन करना मुश्किल है. कुछ दिन पहले ही नवाजुद्दीन सिद्दीकी स्टारर फिल्म 'बाबूमोशाय बंदूकबाज' के मेकर्स ने फिल्म को सेंसर बोर्ड में सर्टिफिकेशन के लिए भेजा था.

फिल्म की स्क्र‍ीनिंग के बाद सेंसर बोर्ड ने फिल्म को A रेटिंग देने और 48 कट्स के साथ फिल्म को पास करने का फैसला किया. लेकिन हद तब हो गई जब सेंसर बोर्ड कमिटी की एक मेंबर ने 'बाबूमोशाय बंदूकबाज' फिल्म की प्रोड्यूसर किरण श्रॉफ की बेइज्जती करनी शुरू कर दी.

फिल्म प्रोड्यूसर किरण श्रॉफ ने बॉम्बे टाइम्स को दिए गए इंटरव्यू में कहा कि जब सेंसर बोर्ड फिल्म में लगाए गए कट्स की वजहें गिना रहे थे, तब बोर्ड मीटिंग में बैठी एक महिला सदस्य मेरी तरफ मुड़ीं और बोलीं, आप औरत होकर ऐसी फिल्में कैसे बना सकती हैं.

किरण श्रॉफ इससे पहले कुछ बोलतीं कि कमिटी में बैठा एक शख्स बोला, "लेकिन ये औरत है ही नहीं, देखें इन्होंने कैसे कपड़े पहने हैं." बता दें कि किरण श्रॉफ ने इस दौरान सिंपल पैंट शर्ट ड्रेस पहनी हुई थी. यह सुनकर किरण श्रॉफ के पांव से जैसे जमीन निकल गई. वह ये देखकर हैरान थी कि वहां बैठी महिला ने भी वही कपड़े पहने हुए थे, जो उन्होंने पहने हैं तो वह औरत कैसे नहीं हो सकती.

किरण श्रॉफ ने इंटरव्यू में कहा, "जो उनके कपड़ों को देखकर अपनी कुछ भी धारणा बना सकते हैं. मैं सोच सकती हूं वह फिल्म को पास करने के लिए क्या मापदंड दिमाग में रखते होंगे." फिल्म के डायरेक्टर कुशन नंदी ने यह भी बताया कि फिल्म में लगाए गए कट्स को लेकर पहलाज निहलानी ने उन्हें कहा कि‍ तुम लकी हो, जो तुम्हारी फिल्म बैन नहीं हुई.

First published: 3 August 2017, 13:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी