Home » बॉलीवुड » Blackbuck poaching case: Salman Khan to be in jail with Asaram if punished
 

काला हिरण शिकार केस: सजा हुई तो आसाराम के साथ जेल में रहेंगे सलमान

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 April 2018, 10:45 IST

जोधपुर के काला हिरण शिकार मामले में फिल्म अभिनेता सलमान खान, सैफ अली खान, अभिनेत्री नीलम, सोनाली व तब्बू की किस्मत का फैसला गुरुवार को होगा. सजा होती है तो सलमान को जोधपुर सेंट्रल जेल में बैरक नम्बर दो में छात्रा के यौन उत्पीडऩ के आरोपी आसाराम के साथ रखा जाएगा.

शिकार के इस मामले में उन्हें सजा होगी या वे बरी होंगे, इस बारे में न्यायालय निर्णय करेगा. इस मामले की 28 मार्च सुनवाई पूरी होने के बाद मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट जोधपुर जिला देवकुमार खत्री ने फैसला सुरक्षित रखा था.

फैसला सुनाने की तारीख 5 अप्रैल निर्धारित की गई थी. इस दौरान सभी आरोपियों को उपस्थित रहने के आदेश दिए गए थे. फैसले से एक दिन पूर्व बुधवार दोपहर सभी पांचों आरोपी जोधपुर पहुंच गए. आरोपी गुरुवार सुबह करीब सवा दस बजे न्यायालय पहुंचेंगे. इस दौरान सुरक्षा और कानून व्यवस्था के मद्देनजर पुलिस ने सुरक्षा के कड़े उपाय किए हैं. आरोपियों को उदयमंदिर की ओर वाले गेट से न्यायालय में लाया जाएगा. मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट जोधपुर की अदालत इसी गेट के नजदीक प्रथम तल पर है.

गत दिनों गैंगस्टर लॉरेंस द्वारा सलमान को मारने की धमकी दिए जाने के मद्देनजर पुलिस खास चेतावनी बरत रही है. कोर्ट रूम के बाहर तीन चरणों में बेरिकेट्स लगाए गए हैं. किसी आम व्यक्ति को कोर्ट रूम में नहीं जाने दिया जाएगा. आरोपियों के साथ आने वाले निजी बांउसर को बेरिकेट से पहले रोक लिया जाएगा. पुलिस के आला अधिकारी स्वयं व्यवस्थाएं देख रहे हैं. उधर जेल प्रशासन ने भी अपने स्तर पर तैयारियां कर रखी हैं.

क्या है पूरा मामला-
साल 1998 में जोधपुर में अपनी फिल्म 'हम साथ-साथ हैं' की शूटिंग के दौरान सलमान खान पर काले हिरण का शिकार करने के आरोप लगे थे. इस केस में उनको गिरफ्तार भी किया गया था. सलमान के कमरे से पुलिस ने 22 सितंबर, 1998 को रिवॉल्वर और राइफल बरामद किया था.

पढ़ें : PNB SCAM: अब सीवीसी ने भी पीएनबी स्कैम का ठीकरा RBI पर फोड़ा

वन अधिकारी ललित बोड़ा ने इस मामले में लूणी पुलिस थाने में 15 अक्टूबर, 1998 को सलमान के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी. एफआईआर के अनुसार, सलमान खान ने 1-2 अक्टूबर, 1998 की रात कांकाणी गांव की सरहद पर दो काले हिरणों का शिकार किया था. इस केस को लगभग 20 साल हो गए हैं.

First published: 5 April 2018, 10:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी