Home » बॉलीवुड » bollywood diva deepika padukone says i cannot say i am completely over depression
 

दीपिका ने खोला राज, 'डरती हूं कहीं डिप्रेशन फिर से न हो जाए'

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 October 2017, 15:29 IST

एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण ने गुरुवार को कहा कि डिप्रेशन से उनकी लड़ाई उनके लिए बहुत बुरा अनुभव था और वो हमेशा डरती हैं कि कहीं उन्हें फिर से यह बीमारी ना हो जाए. दीपिका गुरुवार को इंडियन इकोनॉमिक समिट में मानसिक बीमारी पर बात कर रही थीं.

उन्होंने कहा, "मैं यह नहीं कह सकती कि मैं डिप्रेशन से पूरी तरह उबर चुकी हूं. मेरे दिमाग में हमेशा यह रहता है कि यह बीमारी फिर से वापस आ सकती है. यह मेरे लिए बहुत ही बुरा अनुभव था. जब मैं उस दौर में थी, तब मेरी मां ने मुझमें डिप्रेशन के लक्षण देखे और उन्होंने कहा कि सब कुछ ठीक हो जाएगा. अगर मेरी मां और काउंसलर मेरा साथ नहीं देतीं, तो मैं इतनी जल्दी उबर नहीं पाती."

उन्होंने कहा कि पहले मैं दवाइयां भी नहीं खाना चाहती थीं. मुझे अब भी लगता है कि यह बीमारी मुझे फिर से हो जाएगी. फिल्में करते वक्त भी यह फीलिंग मुझमें रहती है. आज भारत में आत्महत्या की दर बहुत ज्यादा है. एक दिन भारत खुशनुमा देशों में से एक हो सकता है. मैंने 'द लव लिव लॉफ फाउंडेशन' लोगों को यह बताने के लिए बनाया कि आप जैसा महसूस करते हैं, वो ठीक है.

मैं उस स्टेज पर पहुंच चुकी थी, जहां मैंने महसूस किया कि क्यों मैं लोगों को यह नहीं बता सकती कि मैं क्या फील करती हूं. जब मैंने मदद लेने का निर्णय लिया, तब मैं ट्रीटमेंट, मेडिकेशन और लोगों से शेयर करने में पीछे नहीं हटी.

अगर मैं अपने काउंसलर के साथ कंफर्टेबल नहीं होती, तो उनसे अपना इलाज नहीं करवा पाती. संस्थानों के लिए यह जरूरी है कि वो जैसे शारीरिक बीमारी का इलाज करते हैं, वैसे ही मानसिक बीमारी का भी करें. ट्रीटमेंट के पहले और बाद की खासियत यह है कि अब मैं अपना ख्याल रख सकती हूं.

उनसे पूछा गया कि क्या डिप्रेशन के बारे में खुलकर बोलने से उन्हें कुछ फिल्मों के ऑफर खोने पड़े. इस पर उन्होंने कहा, "हो सकता है कुछ लोग हों, जिन्होंने यह सोच कर मुझे फिल्में ऑफर ना की हो कि यह डिप्रेस है और एक्टिंग नहीं कर पाएगी. हो सकता है, मुझे पता नहीं. मैं खुश हूं कि मैं वो फिल्में चुन पाती हूं, जिसमें मैं काम करना चाहती हूं. सबके पास यह लग्जरी नहीं होती कि वो कहां काम करना चाहते हैं और कब काम करना चाहते हैं."

First published: 6 October 2017, 15:29 IST
 
अगली कहानी