Home » बॉलीवुड » bollywood sonu sood will write a book on experience with helping migrant
 

कोरोना काल पर सोनू सूद लिखेंगे किताब, माइग्रेंट वर्कर्स की सुनाएंगे कहानी

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 July 2020, 12:59 IST

Sonu Soods Book: कोरोना से जंग में बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद Sonu Sood ने खूब सुर्खियां बटोरी थी. उन्होंने इस कोरोना काल महाराष्ट्र में फंसे मजदूरों को उनके घर भेजने का काम किया था. यहां तक की उन्होंने मजदूरों के लिए स्पेशल ट्रेनें भी चलवाई थी. सोशल मीडिया पर लोगों ने उनके इस नेक काम के लिए खूब सराहा था. अब सोनू सूद अपने इन्हीं अनुभवों पर एक किताब लिखने जा रहे हैं.

हाल ही में सोनू सूद ने एक न्यूज एजेंसी आईएएनएस से बातचीत की. जिसमें उन्होंने बताया- ' पिछले करीब साढ़े तीन महीने एक तरीके से मेरे लिए जीवन के बदलने वाले अनुभव रहे. माइग्रेंट्स के साथ 16 से 18 घंटे रहना और उनके दर्द को बंटाना. मैं जब उनको उनके घर के लिए अलविदा कहने जाता था, तब मेरा दिल खुशियों से भर जाता था.


इलाज के बाद ठीक हो रहे अमिताभ और अभिषेक, अभी और 7 दिन अस्पताल में रहेंगे भर्ती

उनके चेहरे पर मुस्कान, उनकी आखों में खुशी के आसूं, मेरे लाइफ के सबसे स्पेशल अनुभव रहे. मैं वादा करता हूं कि मैं तब तक काम करता रहूंगा, जब तक आखिरी माइग्रेंट्स अपने घर और प्रियजनों के पास नहीं पहुंच जाता.'

 

सोनू सूद ने आगे कहा- ' मुझे विश्वास है कि मैं इसलिए ही शहर आया था, यही मेरा उद्देश्य था. मैं भगवान को शुक्रिया कहना चाहूंगा कि उन्होंने प्रवासियों की मदद के लिए मुझे साधन बनाया. मुंबई मेरी दिल की धड़कम है, लेकिन अब मुझे लगता है कि मेरा एक हिस्सा यूपी, बिहार, झारखंड, असम, उत्तराखंड और कई अन्य राज्यों के गांवों में भी रहता है,

जहां मुझे अब नए दोस्त मिल गए हैं और गहरे संबंध बनाए हैं. मैंने निर्णय किया है कि इन सभी अनुभवों और कहानियों को एक किताब में पिरोउंगा.' सोनू ने कहा कि किताब को पेंगुइन प्रकाशित करने वाला है.गौरतलब है कि सोशल मीडिया पर भी सोनू सूद ने मदद मांगने वालों की मदद की थी. उन्होंने एक स्पेशल नंबर भी जारी किया था. जिसपर लोग अपनी समस्या बता सकते थे.

सुशांत के निधन के एक महीने बाद एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती ने किया याद, कहा- आपको खोने के 30 दिन लेकिन...

First published: 15 July 2020, 12:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी