Home » बॉलीवुड » Film padmavati will face 300 cuts after 5 suggestion of cbfc include name change as padmavat Deepika Padukone, Ranveer Singh, Shahid Kapoor
 

संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' में 300 कट लगने के बाद बचेगा क्या

विकाश गौड़ | Updated on: 9 January 2018, 15:01 IST

बॉलीवुड के फेमस फिल्ममेकर संजय लीला भंसाली पिछले करीब एक साल से चर्चा में हैं. इसकी पीछे है उनकी बहुचर्चित फिल्म 'पद्मावती', जिसका नाम बदलकर अब 'पद्मावत' हो गया है. इसके पीछे कारण है कि ये फिल्म मलिक मुहम्मद जायसी के महाकाव्य 'पद्मावत' पर आधारित है. बहरहाल जो खबर सामने आई है उसके मुताबिक फिल्म में सेंसर बोर्ड के कहे अनुसार पांच संशोधन करने हैं जिसमें से एक है फिल्म का नाम बदलना.

 

 

300 कट लगने के बाद

आपको बता दें सेंसर बोर्ड ने जो पांच बदलाव इस फिल्म में करने को कहा है अगर उसे पूरी तरह से लागू किया जाए तो इस फिल्म को 300 से ज्यादा कट झेलने पड़ सकते हैं. इसके साथ-साथ इस फिल्म में जहां भी मेवाड़, दिल्ली और चित्तौड़ का जिक्र हुआ है उसे भी पूरी तरह से हटाया जाएगा. सेंसर बोर्ड के इस आदेश का पालन करने के बाद फिल्म 25 जनवरी रिलीज होगी. हालांकि इसकी आधिकारिक घोषणा अभी नहीं हुई है.

पिछले करीब एक साल से चर्चा बनी इस फिल्म में बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण कथित तौर पर रानी पद्मावती यानी पद्ममिनी, एक्टर शाहिद कपूर महारावल रतन सिंह और रणवीर सिंह अलाउद्दीन खिलजी की भूमिका में नजर आएंगे. कहा जा रहा है कि जब दर्शकों के सामने इन किरदारों से सजी ये फिल्म आएगी तो इसका स्वरूप पूरी तरह बदला हुआ होगा. ऐसे में इस फिल्म की कहानी को काल्पनिक रूप में पेश किया जाएगा. क्योंकि सेंसर बोर्ड की डायरेक्टर को साफ हिदायत है कि फिल्म की शुरुआत में डिस्क्लेमर देना होगा इस फिल्म की कहानी किसी भी आधार पर सत्य नहीं है, लिहाजा इसे काल्पनिक माना जाए.

 

वहीं, मुंबई मिरर की रिपोर्ट की मानें तो फिल्म में जहां भी मेवाड़, दिल्ली या फिर चित्तौड़ का उल्लेख है, उसे भी हटाया जाएगा. ऐसा होने के बाद जब दर्शक इस फिल्म को बड़े पर्दे पर देखेंगे तो बड़े असमंजस में होंगे कि वीरता और बहादुरी की कहानी जो वे देख रहे हैं, वह वास्तव में हुई कहां थी. ऐसे में न तो दर्शकों को रानी पद्मावती देखने को मिलेगी और न ही अलाउद्दीन खिलजी का दमदार किरदार.

सेंसर बोर्ड से मिले इस आदेश के बाद फिल्म के एडिटर रात दिन फिल्म को काल्पनिक बनाने में लगे हुए हैं. लेकिन दर्शकों कितने हद तक खुश कर पाएंगे ये देखने वाली बात होगी. आपको बता दें पहले ये फिल्म करीब तीन घंटे की थी लेकिन अब इसमें कट लगने के बाद ढाई घंटे के आसपास हो जाएगी.

ये थे विवाद

फिल्म की शूटिंग से लेकर इसका हर एक भाग विवादों से घिरा रहा है. यहां तक कि राजस्थान में शूटिंग के दौरान इस फिल्म के डायरेक्टर को पब्लिक का विरोध तो झेलना पड़ा ही था. वहीं, खबरों की मानें तो उस बीच करणी सेना के किसी सदस्य ने थप्पड़ भी मारा था जिसके बाद शूटिंग केंसिल कर लोकेशन बदल दी गई. मामला शांत हुआ ही था कि फिल्म के पोस्टर जारी हुए इसके बाद पद्मावती, राजा रत्न सिंह और खिलजी के पहनावे को लेकर सवाल उठाए गए.

इसके बाद इस फिल्म का ट्रेलर रिलीज किया जिसके बाद ये विवाद और गरमा गया. ट्रेलर को प्रशंसा जरूरी मिली लेकिन विवाद कम नहीं हुआ. ट्रेलर के कुछ दिन बाद इस फिल्म का घूमर नाम का गाना रिलीज किया गया, जिसके बाद राजस्थान की महिलाओं ने सवाल उठाए. इस बीच फिल्म की रिलीज डेट एक दिसंबर तय की गई. लेकिन हिमाचल प्रदेश और गुजरात के विधानसभा चुनाव सिर पर थे तो केंद्र सरकार के दवाब के चलते रिलीज डेट रोक दी गई.

इसके बाद इस फिल्म का ट्रेलर रिलीज किया जिसके बाद ये विवाद और गरमा गया. ट्रेलर को प्रशंसा जरूरी मिली लेकिन विवाद कम नहीं हुआ. ट्रेलर के कुछ दिन बाद इस फिल्म का घूमर नाम का गाना रिलीज किया गया, जिसके बाद राजस्थान की महिलाओं ने सवाल उठाए. इस बीच फिल्म की रिलीज डेट एक दिसंबर तय की गई. लेकिन हिमाचल प्रदेश और गुजरात के विधानसभा चुनाव सिर पर थे तो केंद्र सरकार के दवाब के चलते रिलीज डेट रोक दी गई.

साथ ही दिवाली के मौके पर एक आर्टिस्ट ने गुजरात में पद्मावती की रंगोली बनाई जिसे हिंदू समाज के लोगों ने पैरों तले रौंद दिया गया. जिसके बाद इस फिल्म की एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण ने लोगों की मानसिकता पर सवाल खड़े किए तो इस विवाद में नया मोड़ आया. इस बात को लेकर एक नेता ने दीपिका को मारकर उनकी नाक काटने तक के बयान दे दिए. इसके अलावा इस फिल्म का मुद्दा जया बच्चन ने संसद में उठाया.

वहीं, जब इस फिल्म की रिलीज डेट 25 जनवरी सामने आई ही थी कि राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंदरा राजे ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि राज्य में यह फिल्म रिलीज नहीं होगी. क्योंकि इसमें राजस्थान के गौरव और वीरता से छेड़छाड़ की गई है. बहरहाल, अगर ये फिल्म तीन सौ कट के बाद रिलीज होगी तो फिल्म में शायद ही कोई स्वीक्वेंस पूरा देखने को मिले. लेकिन ये भी रिलीज बाद ही पता चलेगा.

वहीं, जब इस फिल्म की रिलीज डेट 25 जनवरी सामने आई ही थी कि राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंदरा राजे ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि राज्य में यह फिल्म रिलीज नहीं होगी. क्योंकि इसमें राजस्थान के गौरव और वीरता से छेड़छाड़ की गई है. बहरहाल, अगर ये फिल्म तीन सौ कट के बाद रिलीज होगी तो फिल्म में शायद ही कोई स्वीक्वेंस पूरा देखने को मिले. लेकिन ये भी रिलीज बाद ही पता चलेगा.

First published: 9 January 2018, 15:01 IST
 
अगली कहानी