Home » बॉलीवुड » Film Produce company viacom 18 movies files pil for reduce padmaavat release ban in several states padmaavat ban
 

'पद्मावत' पर आएगा 'सुप्रीम' फैसला, प्रोड्यूसर ने दायर की याचिका

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 January 2018, 14:34 IST

फिल्ममेकर संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावत' का विवाद एक बार फिर से सुप्रीम कोर्ट में पहुंच गया है. इस बार करणी सेना या कोई और संगठन नहीं बल्कि फिल्म को प्रोड्यूस कर रही कंपनी वायाकॉम 18 ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. वायाकॉम 18 ने इस याचिका में चार राज्यों में फिल्म पर लगाए गए प्रतिबंधों के खिलाफ जल्द सुनवाई की मांग की है. ऐसे में खबर यह भी है कि इस मामले की सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट जल्द ही कोई तारीख दे सकता है. 

बता दें कि मंगलवार को हरियाणा की बीजेपी सरकार ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए फिल्म पद्मावत के प्रदर्शन पर बैन लगा दिया है. फिल्म 'पद्मावत' इसी महीने गणतंत्र दिवस के मौके पर 25 जनवरी को रिलीज होने वाली है. इस फिल्म में दीपिका पादुकोण रानी पद्मावती, एक्टर शाहिद कपूर राजा महारावल रत्न सिंह और रणवीर सिंह सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी लीड रोल में हैं.

 

इस बाबत मंगलवार को हरियाणा कैबिनेट की मीटिंग में फैसला लिया गया कि फिल्म 'पद्मावत' को राज्य में रिलीज नहीं किया जाएगा. इस पीछे हरियाणा सरकार ने वजह ये दी है कि फिल्म को लेकर राजपूत समुदाय खिलाफ है. इस बात को लेकर हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने एक ट्वीट कर राज्य में फिल्म के बैन की बात कही है. इस कैबिनेट मीटिंग में यह तय किया है कि राज्य में कानून व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए फिल्म को बैन किया गया है. राजस्थान, गुजराज और मध्य प्रदेश में फिल्म पहले ही बैन कर दी है.

बता दें, भंसाली की फिल्म 'पद्मावत' हिंदी के अलावा तमिल और तेलुगु भाषाओं में भी रिलीज होगी. इसके साथ-साथ फिल्म 3 डी और आईमैक्स 3डी में भी रिलीज होगी. मेकर्स के कथन के अनुसार सेंसर बोर्ड ने इस फिल्म को पांच मॉडिफिकेशन के साथ
"U/A" सर्टिफिकेट देकर रिलीज की अनुमति दी है. U/A सर्टिफिकेट मिलने के बाद फिल्म को नाबालिग बच्चे अकेले नहीं देख पाएंगे.

First published: 17 January 2018, 14:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी