Home » बॉलीवुड » Happy Birthday Pancham da: Know about the life journey of famous singer rahul dev burman on his birthday
 

बर्थडे स्पेशल: लीजेंड संगीतकार 'पंचम दा' के वो गाने जो रिकॉर्ड हुए लेकिन रिलीज नहीं हुए

दीपाली श्रीवास्तव | Updated on: 27 June 2018, 12:08 IST

जैसे चांद में दाग होने के बाद भी उसकी चांदनी हमेशा ही सभी को पसंद आती है और लोग उस शीतल चांदनी को याद करते हैं. वैसे ही बॉलीवुड के संगीत जगत के महानायक राहुल देव बर्मन को आज भी कोई भुला नहीं सकता है. आर डी बर्मन को लोग पंचम दा के नाम से जानते हैं और आज 27 जून को पंचम दा का जन्मदिन है. हालांकि, आज दा हमारे बीच मौजूद नहीं हैं लेकिन उनके गाने आज भी लोगों के दिलों में बसे हुए हैं. पंचम दा ने 300 से ज्यादा फिल्मों में गाने दिए हैं और कई फिल्मों को प्रोड्यूस भी किया है.

पहले आपको बता दें कि पंचम दा का नाम पंचम कैसे पड़ा. दरअसल, जब पंचम दा छोटे थे और ये रोते थे तब इनके रोने से सभी को लगता था कि संगीत का पांचवा सुर निकल रहा है जिसकी वजह से इनका नाम पंचम रख दिया गया. इसके बाद आते हैं पंचम दा के संगीत पर तो कहा जाता है कि इन्होंने अपना पहला गाना 9 साल की उम्र में ही गाया था और वो गाना था,'ऐ मेरी टोपी पलट के आ'. इस गाने के उनके पिता ने साल 1956 में आई फिल्म 'फंटूश' में लिया था.

इसके बाद पंचम दा का एक और फेमस गाना आया और वो था, 'सर जो तेरा चकराए' इस गाने को पंचम दा ने खुद ही कम्पोज किया था. इसके बाद पंचम दा मुंबई आकर ऑकेस्टरा में हारमोनिका बजाते थे. इसके बाद ही माउथ आर्गन के साथ ही पंचम दा का गाना आया था,'है अपना दिल तो अवारा' और इसके साथ ही ये गाना देव आनंद की फिल्म 'सोलहवां साल' में लिया गया था.

इसके बाद पंचम दा का 'चलती का नाम गाड़ी','कागज के फूल','तेरे घर के सामने','जिद्दी','गाइड','बंदिनी' में इन्होंने संगीत सहायक के रुप में काम किया था. संगीतकार के रुप में पंचम दा की पहली फिल्म थी 'राज' जो कभी पूरी नहीं हो पाई थी लोकिन इसके बाद खुले तौर पर संगीतकार के रुप में पंचम दा ने फिल्म 'छोटे नवाब' में उन्होंने काम किया था. पंचम दा ने कई हिट गाने दिए और कई फिल्मफेयर अवॉर्ड अपने नाम किए थे.

 

पंचम दा के निजी जीवन की बात करें तो उनकी पहली पत्नी का नाम रीता पटेल था और दोनों ने साल 1966 में शादी कर ली थी. साल 1971 में इनका तलाक हो गया था. इसके बाद ही कहा जाता है कि बर्मन जी ने फिल्म 'परिचय' के लिए गाना की धुन तैयार की थी वो गाना था, 'मुसाफिर हूं यारो ना घर है न ठिकाना'. इसके बाद पंचम दा ने साल 1980 में बॉलीवुड सिंगर आशा भोंसले के साथ शादी कर ली थी और इसी के साथ इन दोनों ने मिलकर कई हिट गाने भी दिए थे.

 

पंचम दा के बारे में हम आपको कुछ और भी बातें बताने जा रहे हैं और ये शायद ही लोग जानते होंगे. बता दें कि पंचम दा के कुछ गाने ऐसे भी थे जो रिकॉर्ड तो हुए लेकिन रिलीज नहीं किए गए.  इन गानों को देखिए. इस लिस्ट का सबसे पहला गाना था पंचम दा फिल्म 'लिबास' का गाना 'खामोश सा अफसाना ' था.

 

उसके बाद दूसरी फिल्म थी 'मुसाफिर' जिसका गाना था,'सावन सांवरी अखियां'

 

पंचम दा का तीसरा गाना था,'तुम मेरी जिंदगी में' इसकी फिल्म 'बॉम्बे टू गोवा' थी.

 

उसके बाद की फिल्म थी 'सितमगर' और इस फिल्म का गाना 'किसी गरीब के दिल से' था.

‘सीता और गीता',‘रामपुर का लक्ष्‍मण’,‘शोले’,‘अपना देश’,‘परिचय’,‘कसमें वादे’,‘घर’,‘गोलमाल’,‘रॉकी’, ‘मासूम’, ‘सत्ते पे सत्ता’, ‘लव स्‍टोरी’ जैसी कई फिल्मों में भी पंचम दा ने अपने संगीत का जलवा बिखेरा और आज भी पंचम दा अपने गानों के साथ सभी के दिलों में मौजूद हैं. विधु विनोद चोपड़ा की फिल्म '1942 ए लवस्टोरी' बतौर संगीतकार पंचम दा की आखिरी फिल्म थी. 4 जनवरी 1994 को वह इस दुनिया को अलविदा कह गए.

ये भी पढ़ें- बर्थडे स्पेशलः अभिषेक बच्चन से टूट गई थी करिश्मा की सगाई, हैरान करने वाली थी वजह

First published: 27 June 2018, 11:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी