Home » बॉलीवुड » Haryana lokayukta wants Soha Ali Khan’s arms licence probed
 

सोहा अली ख़ान के पास है फर्जी लाइसेंस, जल्द दर्ज होगी FIR

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 April 2017, 13:20 IST

हरियाणा के लोकायुक्त ने सोहा को जारी किए हथियार लाइसेंस की जांच के आदेश दिए हैं. लाइसेंस की जांच का आदेश हरियाणा के लोकायुक्त ने गुरुग्राम के पुलिस कमिश्नर और जिले की आर्म्स लाइसेंसिंग अथॉरिटी (एएलए) को दिया गया है. सोहा द्वारा अवैध ढंग से शस्त्र लाइसेंस बनवाने की शिकायत लोकायुक्त के पास 2016 में आई थी. पीपुल्स फार एनीमल के चेयरमैन नरेश कादियान ने यह शिकायत की थी. इस मामले में सुनवाई की अगली तारीख 24 जुलाई को तय की है. 

आरोप है कि सोहा अली खान को साल 1996 में आर्म्स लाइसेंस जारी किया गया था जबकि उस वक्त वह इसके लिए योग्य नहीं थीं. साथ ही गुरुग्राम के पुलिस कमिश्नर और आर्म्स लाइसेंसिंग अथॉरिटी को इस मामले में रिपोर्ट सौंपने का भी आदेश दिया है. 

बता दें कि सोहा अली खान के 22 बोर के राइफल के लाइसेंस की जांच होनी है. 2005 के एक अवैध शिकार मामले में इस हथियार की जांच चल रही है. यह केस सोहा के पिता मंसूर अली खान पटौदी समेत अन्य पर है. एनिमल ऐक्टिविस्ट और हरियाणा स्काउट ऐंड गाइड कमिश्नर नरेश कुमार की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए रजिस्ट्रार मंजीत सिंह ने इस केस को आगे बढ़ाया. पिछले साल मार्च में कुमार ने लोकायुक्त के पास इस मामले में आरोपी अधिकारियों के खिलाफ ऐक्शन लिए जाने की मांग की थी.

इस साल 10 मार्च को लोकायुक्त को सौंपी गई रिपोर्ट में रजिस्ट्रार ने कहा, 'यह साबित हो चुका है कि सोहा को कम उम्र (18 से कम) में ही हथियार का लाइसेंस जारी कर दिया गया. सोहा अली खान नें 18 साल की उम्र में लाइसेंस बनवाया , जबकि 21 साल की उम्र में उनकी पात्रता बनती थी.' रजिस्ट्रार ने पाया कि सोहा ने आईपीसी की धारा 420 के तहत दंडनीय अपराध किया, जिसके के लिए उन्हें सजा दी जानी चाहिए.

First published: 30 April 2017, 13:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी