Home » बॉलीवुड » Jammu Kashmir: human shield farooq ahmad dar refuses rs 50 lakh offer of bigg boss
 

कश्मीर में जिसे सेना ने जीप से बांध कर घुमाया था उसने ठुकराया बिग बॉस का ऑफर

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 June 2018, 12:50 IST

साल 2017 के लोकसभा उपचुनाव में एक कश्मीरी युवक फारूख डार को पथराव की घटना के दौरान बडगाम जिले में आर्मी के एक मेजर गोगोई ने अपनी जीप के बोनेट पर बांधकर कई गांवों में घुमाया था. मेजर ने इस युवक का इस्तेमाल मानव ढाल के रूप में किया था. इसके बाद यह घटना सुर्खियों में आ गई थी. 

खबर है कि मानव ढाल बने इस युवक ने बहुचर्चित टीवी रियलिटी शो बिग बॉस का ऑफर ठुकरा दिया था. इसका खुलासा खुद युवक ने किया है. फारूख डार के मुताबिक," मुझे पिछले साल जुलाई में बिग बॉस में शामिल हाेने का प्रस्ताव मिला था. कार्यक्रम के निर्माताओं ने कहा था कि मेरा टिकट तैयार है. इस कार्यक्रम में शामिल हने के लिए मुझे 50 लाख रुपए देने की भी पेशकश की गई थी. लेकिन मैंने यह प्रस्ताव ठुकरा दिया था क्योंकि मैं उस समय सरकार से हर्ज़ाना लेने के लिए लड़ रहा था."

 

डार का कहना है कि ये बात जुलाई की है. तब जम्मू और कश्मीर स्टेट ह्यूमन राइट्स कमीशन ने राज्य सरकार को निर्देश दिए थे कि अमानवीय तरीके से किए गए व्यवहार की भरपाई के लिए उन्हें 10 लाख रुपये दिए जाएं. लेकिन सरकार ने ये कहकर मना कर दिया कि ऐसे मामलों में छतिपूर्ति के लिए कोई पॉलिसी या स्कीम नहीं है.

हालांकि डार के इस दावे को बिग बॉस प्रसारित करने वाले चैनल कलर्स ने न इसकी पुष्टि की न इसे ख़ारिज़ किया. 

 

बता दें कि बडगाम जिले के चिल गांव में रहने वाले पेशे से दर्ज़ीगिरी और शॉल बनाने का काम करने वाले 29 साल के फारूक़ अहमद डार वही हैं जिन्हें बीते साल अप्रैल में उपचुनाव के मतदान के दौरान सेना की जीप के सामने बांधकर 10-12 गांवों में घुमाया गया था.

सेना के मेजर गोगोई की दलील थी कि मतदान केंद्र पर तैनात मतदानकर्मियों और सैनिकों को पत्थरबाज़ों से बचाने के लिए मज़बूरी में डार को ‘मानव ढाल’ बनाना पड़ा था. 

First published: 8 June 2018, 12:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी